राजनीति

Smriti Irani challenge to Delhi CM Kejriwal, Press Conference at 12:30 | Money Laundering Case: स्मृति ईरानी ने सत्येन्द्र जैन को लेकर केजरीवाल को दी चुनौती, पूछे 10 सवाल

open-button


स्मृति ईरानी ने दागे कई सवाल
अरविन्द केजरीवाल ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक जज की भूमिका खुद ही निभाते हुए सत्येन्द्र जैन को सभी अपराधों से क्लीन चिट दे दी। आज मैं उनसे कुछ सवाल करूंगी।

पहला सवाल- क्या आप इस बात से इनकार कर सकते हैं कि सत्येन्द्र जैन ने 2010-2011 से लेकर 2015-16 के दौरान 4 शेल कंपनियां की मदद से जोकि अकिंचन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, इंडो मेटल इंपेक्स प्राइवेट लिमिटेड, पर्यास इंफोसोल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड, मंगलायतन प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड, जे जे आइडियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड है, अपने सहयोगियों के साथ मिलकर कोलकाता के हवाला ऑपरेटर के जरए 16 करोड़ 39 लाख की मनी लॉन्ड्रिंग की वो भी 56 शेल कंपनियों का इस्तेमाल कर।

दूसरा सवाल- क्या ये सत्य है कि सत्येन्द्र जैन ने वर्ष 2016 में ये खुद स्वीकार किया था कि उन्होंने 16 करोड़ 39 लाख के मनी लॉन्ड्रिंग में अपने करीबी सहयोगी वैभव जैन और अंकुश जैन के साथ मिलकर की थी और अपनी आय को छुपाया था।

तीसरा सवाल- केजरीवाल जी क्या ये सत्य है प्रिन्सपल कमिशनर ने इस बात को रिजेक्ट किया कि 16 करोड़ 39 लाख के मालिक न वैभव जैन थे न अंकुश जैन बल्कि इस काले धन के मालिक स्वयं सतेन्द्र जैन हैं।

चौथा सवाल- क्या ये सत्य है कि डिवीजन बेंच दिल्ली हाई कोर्ट ने 21/08/2019 के अपने ऑर्डर में इस बात की पुष्टि की कि सत्येन्द्र जैन केजरीवाल के न सिर्फ सरकार में मंत्री, उनके परम मित्र, उनके सहयोगी ने 16 करोड़ 39 लाख मनी लॉन्ड्रिंग की। अगर केजरीवाल के पास कोर्ट के इस दस्तावेज की कोई कॉपी नहीं है बीजेपी के कार्यकर्ता बड़े समान के साथ उन्हें ये कॉपी भेज देंगे।

यह भी पढ़ें

मनी लॉन्डरिंग मामले में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को दिल्ली कोर्ट ने जारी किया समन

पाँचवा सवाल- क्या ये सत्य है केजरीवाल कि सत्येन्द्र जैन शेल कंपनी के मालिक हैं। उन शेल कंपनियों का नाम है इंडो मेटल इंपेक्स प्राइवेट लिमिटेड, अकिंचन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, पर्यास इंफोसोल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड, मंगलायतन प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड और ये कंपनियां वो अपनी धर्म पत्नी के साथ शेयर होल्डिंग के माध्यम से नियंत्रित करते हैं। वो रियल ओनर थे इस मनी लॉन्ड्रिंग में। एक और कंपनी जे जे आइडियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड है जिसमें अधिकतर शेयर होल्डिंग सत्येन्द्र जैन, उनकी पत्नी व परिवार की है जिसको केजरीवाल जी प्रेस के माध्यम से ढांढस बंधा रहे थे कि ‘भाभीजी डरने की जरूरत नहीं है।’

छठा सवाल- क्या ये सत्य है सत्येन्द्र जैन ने 200 बीघा जमीन कराला, औचंदी, निजामपुर, उधम, नॉर्थ और नॉर्थ वेस्ट दिल्ली के इलाके में, अनधिकृत कॉलोनियां के संदर्भ में, इस काले धन के माध्यम से 200 बीघा जमीन का मालिकाना हक इन शेल कंपनियों के माध्यम से क्या सत्येन्द्र जैन के मालिकाना हक के तहत बेनेफिट में आया।

सातवाँ सवाल- क्या ये सत्य है कि जो 200 बीघा की जमीन है वो उन अनधिकृत कॉलोनियां के आसपास है जिसके संदर्भ में मंत्रालय सतेन्द्र जैन का और आम आदमी पार्टी के माध्यम से क्या ये कारण बना कि वो अनधिकृत कॉलोनियां नियमित हुईं।

आठवाँ सवाल- केजरीवाल क्या ये सत्य है कि चार्जशीट में में प्रीवेन्शन ऑफ करप्शन ऐक्ट के तहत सत्येन्द्र जैन आज मुख्य आरोपी हैं।

नौवां सवाल- क्या ये सत्य है कि 16 करोड़ 39 लाख मनी लॉन्ड्रिंग की जो सत्येन्द्र जाए की आय है उसपर इनकम टैक्स डिपार्ट्मन्ट टैक्स लगाए ये प्रस्ताव स्वयं सत्येन्द्र जैन की कंपनियों का था।

आखिरी सवाल- जिस सत्येन्द्र जैन ने स्वयं स्वीकार किया कि 16 करोड़ 39 लाख मनी लॉन्ड्रिंग हवाला ऑपरेटर्स के माध्यम से की गई उन कंपनियों में जिनमें सत्येन्द्र जैन व उनके परिवार की भागीदारी है। क्या वो व्यक्ति आज भी AAP द्वारा संचालित सरकार का मंत्री बना रहना चाहिए? आप कहते हैं भ्रष्टाचार करने वाला देश का गद्दार है, क्या आप देश को गद्दार को पनाह दे रहे हैं।

केजरीवाल को स्मृति ईरानी की चुनौती
इससे पहले स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर केजरीवाल को चुनौती देते हुए लिखा था, “ध्यान दें केजरीवाल जी, 12:30 बजे प्रेस कांफ्रेंस में कुछ तथ्य पेश करेंगे। देखते हैं, आपका ‘धोखा’ कितना ‘साफ’ है!”

क्या है मामला?
बता दें कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन को प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया है। ये मामला पाँच साल पुराना है और करीब 5 करोड़ रुपये की हेरा-फेरी का है। उनकी गिरफ़्तारी पर राजनीति भी तेज है। आप का दावा है कि ये मामला फर्जी है जिसमें प्रवर्तन निदेशालय को कुछ नहीं मिला था, लेकिन हिमाचल प्रदेश के चुनावों से पूर्व इसे जानबूझकर उठाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें

कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन को 9 जून तक ईडी की कस्टडी में भेजा

अरविन्द केजरीवाल ने मामले को बताया फर्जी
इसपर अरविन्द केजरीवाल ने मंगलवार को दावा किया था कि ये मामला पूरी तरह से फर्जी है यदि इसमें थोड़ी भी सच्चाई होती तो वो खुद ही इसके खिलाफ एक्शन लेते। इसके साथ ही उन्होंने सत्येन्द्र जैन को कट्टर देशभक्त, ईमानदार और बेहद साहसी बताया था। इससे पहले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि सत्येंद्र जैन को एक फर्जी और निराधार मामले में गिरफ्तार किया गया है। वो जल्द ही इस मामले में बरी होंगे।





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top