राजनीति

Saria Rs 8200 quintal, Cement 350 sack | सरिए 8200 रुपए क्विंटल, सीमेंट 350 की बोरी

open-button


कमर तोड़ महंगाई
– तेजी से बढ़ रहे भाव

बुरहानपुर. पिछले एक पखवाड़े में रिकॉर्ड तेजी दर्ज होने से मकान का सपना आम आदमी की पकड़ से दूर होता जा रहा है। बाजार में तांबा, लोहा, पीतल, एल्यूमिनियम, स्टील में भी तेजी पर है। माना जा रहा है कि रूस एवं यूक्रेन से आने वाले रसायन की आपूर्ति बाधित होने के कारण इसका बड़ा असर पड़ा है, जबकि कुछइसे युद्ध का बहाना बता रहे हैं।
दरअसल बाजार में सरिए के दाम 8 हजार 200 रुपए क्विंटल तक पहुंच गए हैं। फरवरी के आरंभ में सरिए के भाव 6 200 से 6 5500 रुपए क्विंटल थे। एक महीने में 2 हजार रुपए रेट बढ़ गए। इससे न केवल मकान बनाने का बजट गड़बड़ा गया है, बल्कि सरकारी प्रोजेक्ट भी प्रभावित हो रहे हैं। शासकीय विभागों में चल रहे निर्माण कार्यों की रफ्तार भी रूक गई है। कुछ जगह तो ठेकेदारों ने काम से हाथ पीछे खींच लिए हैं। यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे युद्ध को महंगाई से जोड़कर देखा जा रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि यदि युद्ध लंबा चला तो कीमतों में और इजाफा हो जाने की आशंका है। सरिए के साथ ही ईंट और सीमेंट के भावों में भी अपेक्षाकृत बढ़ोतरी हुई हैं।
बॉक्स
थोक का धंधा हुआ मंदा, कम हो रही बिक्री
महंगाई की वजह से मकान निर्माण में लगने वाली सामग्री की बिक्री भी कम हो गई। इससे थोक व्यापारियों का धंधा भी मंद हो गया है। बिल्डिंग मटेरियल के थोक विक्रेता का कहना है कि 15 दिनों में स्टील और लोहे के दाम सबसे ज्यादा बढ़े हैं। जिससे ग्राहकी कम हो गई। जो लोग क्विंटलों से सामान ले जाते थे, उन्होंने भी सरिए लेने में कटौती कर दी।
बॉक्स
पीएम आवास पर 12 हजार खर्च बढ़ा
सरिया, रेत, गिट्टी और अन्य सामान महंगा होने से पीएम आवास का निर्माण भी गरीबों के लिए मुश्किल हो गया है। एक मकान पर 12 हजार रुपए का अतिरिक्त खर्च बढ़ गया है। इस समय जिले में 1400 पीएम आवास बन रहे हैं। जिनका निर्माण आगे चलकर बंद या रूक सकता है।
ऐसे समझे गणित
इंजीनियर एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रवीण चौकसे ने बताया कि कोरोना के पहले 4500 रुपए क्विंटल लोहा था, अब 8 हजार 200 रुपए हो गया है। पिछले 20 दिन में 20 रुपए हो गया है। 1 स्क्ेवयरफीट में 3.5 किलो लोहा लगता है, इसी में 82 रुपए का खर्चाआ जाता है। यही नहीं पीवीसी पाइप 5 हजार रुपए टन तक हो गए। इस पर 50 रुपए की वृद्धि हुई। सीमेंट की बोरी पर 25 रुपए बढ़ गए हैं, जो अब 350 रुपए प्रति बोरी आ रही है। याने पूरा मकान बनाने का सपना महंगा हो गया। 200 रुपए स्क्वेयरफीटसे ज्यादा मकान निर्माण में लग रहा है। रेत 3200-3500 रुपए प्रति ट्रॉली है।
– पिछले 15 से 20 दिनों में भाव में खासी वृद्धि हुई है। इसे लेकर सरकार ने ध्यान देना चाहिए। – प्रवीण चौकसे, इंजीनियर





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top