राजनीति

BJP Delay To Form Government In Uttarakhand Know the Reason | उत्तराखंड में सरकार बनाने में हो रही देरी, मुख्यमंत्री नहीं बल्कि कुछ और ही है वजह

open-button


उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के नतीजे आए 48 घंटे से ज्यादा का वक्त हो चुका है, लेकिन अब तक सरकार के गठन से लेकर अगले मुख्यमंत्री तक कोई खबर सामने नहीं आई है। दरअसल मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के हारने के बाद से ये कयास लगाए जा रहे थे, कि इस वजह से सरकार गठन में देरी होगी, लेकिन अब इसके पीछे कोई और ही वजह बताई जा रही है।

नई दिल्ली

Published: March 12, 2022 05:23:49 pm

उत्तराखंड ( Uttarakhand ) के नतीजे आने के बाद बीजेपी ( BJP ) की शानदार जीत तो दर्ज कर ली है, लेकिन अब तक सरकार गठन को लेकर कोई तस्वीर सामने नहीं आई है। हालांकि इस बीच मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया है। इसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी की ओर से सरकार के गठन और सीएम फेस को लेकर कोई जानकारी सामने आएगी, लेकिन ऐसा हो ना सका। दरअसल बीजेपी के हलकों में यह चर्चा है कि नई सरकार के गठन में कुछ देरी हो सकती है। हालांकि इसकी वजह मुख्यमंत्री का संकट नहीं है।

BJP Delay To Form Government In Uttarakhand Know the Reason

BJP Delay To Form Government In Uttarakhand Know the Reason

दरअसल राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर हैं कि उत्तराखंड में सरकार के गठन को लेकर कुछ देरी हो सकती है। पहले ये कयास लगाए जा रहे थे कि सीएम पुष्कर धामी हार गए हैं, ऐसे में पार्टी के लिए सबसे बड़ा संकट यह होगा कि, किसको सीएम बनाया जाए।

यह भी पढ़ें

अधीर रंजन चौधरी ने ममता बनर्जी को बताया ‘पागल’, जानिए क्या है पूरा मामला

उत्तराखंड में नए मुख्यमंत्री को लेकर चर्चाएं भी शुरू हो गई थीं। तीन नाम भी उभकर कर सामने आए थे। इन्हें धन सिंह रावत, त्रिवेंद्र रावत और खुद पुष्कर सिंह धामी शामिल हैं। हालांकि इससे बड़ा एक और संकट सामने है जिसको लेकर चर्चाएं हो रही हैं।

उत्तराखंड में सरकार गठन को लेकर देरी की सबसे बड़ी वजह होलाष्टक बताया जा रहा है। दरअसल, 10 मार्च से होलाष्टक लगा है जो अगले आठ दिन होली तक रहेगा। पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं ने भी ऐसे आसार जताए हैं कि होलाष्टक के कारण सरकार के गठन में देरी हो सकती है। ऐसे में माना जा रहा है कि 18 तारीख के बाद ही उत्तराखंड में आगे की रूपरेखा सामने आएगी।

होलाष्टक से क्या समस्या माना जाता है कि होलाष्टक के दौरान कोई शुभ या मंगल कार्य नहीं होता। बीजेपी आमतौर पर कोई अच्छा काम करने से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखती है।

उधर, गुरुवार को चुनाव परिणाम आने के बाद शुक्रवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि.) को इस्तीफा सौंप दिया।

पुष्कर धामी ने कैबिनेट के सदस्यों का इस्तीफा भी राज्यपाल को दिया। इससे पहले धामी ने राज्य सचिवालय में कैबिनेट की बैठक की और सबका धन्यवाद किया। इसके बाद वह चार मंत्रियों के साथ राजभवन चले गए।
राज्यपाल ने इस्तीफा स्वीकार कर नई सरकार के गठन तक मुख्यमंत्री व मंत्रिपरिषद सदस्यों को कार्यवाहक जिम्मेदारी देखने को कहा।

यह भी पढ़ें

पंजाब में जीत के बाद AAP का हौसला बुलंद, अब नजर देश के दक्षिण राज्यों पर, चलाएगी सदस्यता अभियान, निकालेगी पदयात्रा

newsletter

अगली खबर

right-arrow





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top