राजनीति

Ahmed Patel son faisal patel may leave congress, says no option left | अहमद पटेल के बेटे का भी कांग्रेस से हुआ मोहभंग, छोड़ सकते हैं कांग्रेस

open-button


कांग्रेस के दिवंगत नेता अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल कांग्रेस का साथ छोड़ सकते हैं। ट्विटर पर उन्होंने अपनी खीझ व्यक्त की है।

Updated: April 05, 2022 03:24:11 pm

एक तरफ कांग्रेस पार्टी को एकजुट करने और मजबूत करने के लिए लगातार बैठकें कर रहे हैं तो दूसरी तरफ पार्टी के नेता पार्टी छोड़ने का मन बना रहे हैं। इस सूची में अब कांग्रेस के दिवंगत नेता अहमद पटेल के पटेल के बेटे फैसल पटेल का नाम जुड़ सकता है। फैसल पटेल ने ट्विटर पर पार्टी के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया है। फैसल पटेल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “इंतजार करते-करते थक गया हूँ। हाई कमान से कोई प्रोत्साहन नहीं मिल रहा। अब मेरे विकल्प मैने खोल दिए हैं।”

Ahmed Patel son faisal patel may leave congress, says no option left

Ahmed Patel son faisal patel may leave congress, says no option left

बता दें कि पिछले महीने के अंत में फैसल पटेल ने कहा था कि वो राजनीति में औपचारिक तौर पर आने को लेकर आश्वस्त नहीं हैं, परंतु वो अपने गृह जिले भरूच और नर्मदा के लिए परदे के पीछे से काम करना जारी रखेंगे।

उन्होंने 27 अपने ट्विटर पर लिखा था, “1 अप्रैल से मैं भरूच और नर्मदा जिलों की 7 विधानसभा सीटों का दौरा करूंगा। मेरी टीम वर्तमान में वहाँ राजनीतिक स्थिति क्या है इसका आंकलन करेगी और हमारे मुख्य लक्ष्य को पूरा करने के लिए यदि आवश्यक हो तो बड़े बदलाव करेगी- भगवान की इच्छा से सभी 7 सीटें जीतेंगे।”

फैसल पटेल फिलहाल रमजान के कारण अपने दौरे को थोड़ा देर से शुरू करेंगे, परंतु आज उनके एक ट्वीट ने सियासी गलियारे में सुगबुगाहट को पैदा कर दिया है।

कुछ दिन पहले ही फैसल पटेल ने कहा था, “मैं फिलहाल राजनीति में नहीं आ रहा हूं और अभी पार्टी में शामिल होने को लेकर निश्चित नहीं हूं.” हालांकि, फैसल ने कहा था कि अगर वह राजनीति में शामिल होते हैं, तो वह “चुनावी राजनीति में प्रवेश नहीं कर सकते, लेकिन पार्टी के लिए काम कर सकते हैं।” इस साल के अंत में गुजरात विधानसभा चुनाव होने हैं और ऐसे में फैसल पटेल का ये फैसला पार्टी की मुश्किलें बढ़ा सकता है।

गौरतलब है कि अहमद पटेल सोनिया गांधी के ‘सबसे शक्तिशाली’ सहयोगियों में से एक थे और वो कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष भी थे। वर्ष 2020 में अहमद पटेल का निधन हो गया। उन्होंने कभी अपने बेटे या बेटी को राजनीति में एंट्री दिलाने के लिए कोई मदद नहीं की है।

यह भी पढ़ें

बढ़ती महंगाई पर कांग्रेस का अनूठा प्रदर्शन

newsletter

अगली खबर

right-arrow





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top