स्वास्थ्य

World Toilet Day 2022: कब और क्यों मनाया जाता है विश्व शौचालय दिवस? जानें इस वर्ष की थीम

World Toilet Day 2022: कब और क्यों मनाया जाता है विश्व शौचालय दिवस? जानें इस वर्ष की थीम


हाइलाइट्स

हर वर्ष 19 नवंबर को ‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ मनाया जाता है.
लोगों को स्‍वच्‍छता के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है वर्ल्‍ड टॉयलेट डे.

World Toilet Day 2022: पिछले कुछ सालों से विश्‍वभर में स्‍वस्‍छता पर काफी जोर दिया जा रहा है, जिसका सीधा संबंध टॉयलेट से है. डब्‍ल्‍यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में लगभग 360 करोड़ लोग टॉयलेट से वंचित हैं. भारत में 2011 की जनगणना के अनुसार, गांवों में 67 प्रतिशत और शहरों में 13 प्रतिशत परिवार खुले में शौच करते हैं. रिसर्च इंस्‍टीटयूट ऑफ कंपैशनेट इकोनॉमिक्‍स के मुताबिक, देश के 40 प्रतिशत घरों में शौचालय होने के बावजूद प्रत्‍येक घर से एक सदस्‍य नियमित रूप से खुले में शौच के लिए जाता है. लोगों की इसी सोच को बदलने और स्‍वच्‍छता को ध्‍यान में रखते हुए हर वर्ष 19 नवंबर को ‘वर्ल्‍ड टॉयलेट डे’ यानी ‘विश्व शौचालय दिवस’ मनाया जाता है. चलिए जानते हैं इस दिन के महत्‍व और इतिहास के बारे में.

वर्ल्‍ड टॉयलेट डे का इतिहास
वर्ल्‍ड टॉयलेट डे की स्‍थापना सिंगापुर के जैक सिम द्वारा 19 नवंबर 2001 में की गई थी. जैक से 2001 में डब्‍ल्‍यूटीओ यानी वर्ल्‍ड टॉयलेट ऑर्गनाइजेशन की स्‍थापना की थी. हालांकि, 2013 में संयुक्‍त राष्‍ट्र संगठन द्वारा ऑ‍फिशियल तौर पर संयुक्‍त राष्‍ट्र विश्‍व शौचालय दिवस की घोषणा की गई.

क्‍यों मनाया जाता है वर्ल्‍ड टॉयलेट डे
वर्ल्‍ड टॉयलेट डे मनाने का मुख्‍य उद्देश्‍य लोगों को खुले में शौच करने से रोकना और शौचालय से जुड़े मानव अधिकार को हर व्‍यक्ति तक पहुंचाना है.
– इसके साथ ही दुनियाभर में स्‍वच्‍छता, स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा नीति का मजबूत करना है.
– खुले में शौच करने वाली महिलाओं के यौन शोषण को रोकना है.
– लोगों को खुले में शौच के कारण होने वाले संक्रमण और अस्‍वच्‍छता को रोकना है.

यह भी पढ़ेंः Air Pollution से याददाश्त हो सकती है कमजोर, डिप्रेशन का बढ़ता है खतरा

वर्ल्‍ड टॉयलेट डे 2022 की थीम
वर्ल्‍ड टॉयलेट डे को मनाने के लिए हर वर्ष एक अलग थीम रखी जाती है, जिसके तहत लोगों को जागरूक किया जाता है. वर्ष 2022 की थीम है: स्‍वच्‍छता और भूजल. इस थीम के तहत लोगों को स्‍वच्‍छता और भूमिगत जल के महत्‍व के बारे में जानकारी दी जाएगी.

यह भी पढ़ेंः Air Pollution: अस्थमा अटैक में क्या होनी चाहिए फर्स्ट ऐड? डॉक्टर से जानें टिप्स

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi viralfloat इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Lifestyle, World Toilet Day



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top