स्वास्थ्य

Itching in pregnancy: क्या सामान्य है प्रेग्नेंसी में खुजली होना, जानिए इसके लिए घरेलू उपाय

Itching in pregnancy: क्या सामान्य है प्रेग्नेंसी में खुजली होना, जानिए इसके लिए घरेलू उपाय


हाइलाइट्स

प्रेग्नेंसी में खुजली होना सामान्य है.
इसके कई कारण होते हैं जैसे हॉर्मोन्स, ड्राई स्किन, कोलेस्टेसिस आदि.
अगर प्रेग्नेंसी में होने वाली खुजली माइल्ड है तो घरेलू उपचार अपनाए जा सकते हैं.

Itching in pregnancy: प्रेग्नेंसी के नौ महीने बनने वाली मां के लिए महत्वपूर्ण होने के साथ-साथ मुश्किल भी होते हैं. इस दौरान वो कई शारीरिक और मानसिक बदलावों से गुजरती हैं. गर्भावस्था की शुरुआत में जी मिचलाना, थकावट, हार्टबर्न, कब्ज जैसी परेशानियां अधिकतर महिलाओं को होती हैं. प्रेग्नेंसी में एक और समस्या जिसका सामना कई महिलाएं करती हैं, वो है खुजली यानी इचिंग. अक्सर खुजली होना बहुत ही परेशान करने वाली और इरिटेटिंग होती है. लेकिन, क्या प्रेग्नेंसी में खुजली होना सामान्य है या नहीं? क्या यह समस्या सभी गर्भवती महिलाओं को होती है? आइए जानें इस बारे में. यह भी जानते हैं कि अगर किसी को यह समस्या होती है, तो उसके लिए कौन सी होम रेमेडीज फायदेमंद हो सकती हैं?

क्या प्रेग्नेंसी में यह खुजली होना सामान्य है?
प्रेग्नेंसी में माइल्ड इचिंग होना कॉमन है, इसका कारण है स्किन तक ब्लड सप्लाई बढ़ना. जैसे जैसे प्रेग्नेंसी का समय बढ़ता है शिशु भी बढ़ता है और पेट की स्किन फैलती है और इससे खुजली हो सकती है. हेल्थलाइन के अनुसार प्रेग्नेंसी में इचिंग के कई कारण हो सकते हैं जैसे हॉर्मोन्स, ड्राई स्किन, कोलेस्टेसिस आदि. इस दौरान माइल्ड इचिंग में चिंता करने की जरूरत नहीं है लेकिन अगर यह गंभीर हो तो यह एक गंभीर लिवर कंडीशन ओब्स्टेट्रिक कोलेस्टेसिस की ओर इशारा करती है. प्रेग्नेंसी में अधिकतर महिलाएं खुजली जैसी परेशानी का सामना करती हैं.

प्रेग्नेंसी में यह खुजली को दूर करने के लिए होम रेमेडीज
कुछ होम रेमेडीज से आप इस समस्या से आसानी से राहत पा सकते हैं, जैसे:
अपने परफ्यूम या डिटर्जेंट को बदलें, क्योंकि हो सकता है कि यह खुजली का कारण बन रहे हों.
नेचुरल फैब्रिक्स से बने लूज कपड़े पहनें.
ओटमील बाथ लें.
ड्राई स्किन से बचने के लिए अच्छे मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें.
कैलेमाइन लोशन का यूज करें.
हाइड्रेट रहें और आवश्यक मात्रा में पानी का सेवन करें.
किसी अच्छे ह्युमिडिफायर का प्रयोग करें.
अगर इन तरीकों को अपनाने में बाद भी आपकी समस्या दूर न हो, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना न भूलें.

ये भी पढ़ें: How to Make Makki Ki Roti: सरसों की साग के साथ मक्के की रोटी का लेना है मज़ा तो इस आसान तरीके से बनाएं

ये भी पढ़ें: स्वाद का सफ़रनामा: शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है कीवी, इस फल के नाम की है रोचक दास्तान

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top