स्वास्थ्य

Best Time to Take Probiotics: दिन में इस समय प्रोबायोटिक्स का सेवन करने से मिलता है फायदा

Best Time to Take Probiotics: दिन में इस समय प्रोबायोटिक्स का सेवन करने से मिलता है फायदा


हाइलाइट्स

प्रोबायोटिक्स डाइट्री सप्लीमेंट्स हैं, जिनमें फायदेमंद बैक्टीरिया होते हैं
हमारे शरीर में अच्छे और बुरे दोनों तरह के बैक्टीरिया होते हैं.
खाली पेट प्रोबायोटिक्स को लेना अधिक लाभदायक माना गया है.

Best Time to Take Probiotics. प्रोबायोटिक्स को हमारे स्वास्थ्य खासतौर पर डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए बहुत फायदेमंद माना गया है. यह वो डाइट्री सप्लीमेंट्स हैं, जिनमें फायदेमंद बैक्टीरिया होते हैं. हमारे शरीर में अच्छे और बुरे दोनों तरह के बैक्टीरिया होते हैं. जब हमें इंफेक्शंस होता है, तो इसका जिम्मेदार बुरे बैक्टीरिया को माना जाता है. अच्छे बैक्टीरिया एक्स्ट्रा बैड बैक्टीरिया को हमारे शरीर से बाहर निकलने में मदद करते हैं ताकि बैलेंस बना रहे. प्रोबायटिक सप्लीमेंट्स शरीर में अच्छे बैक्टीरियाज को शामिल करने का एक अच्छा तरीका है. अच्छे बैक्टीरिया हमारे इम्यून फंक्शन को सपोर्ट करते हैं और सूजन को भी कंट्रोल करते हैं. प्रोबायोटिक्स को लेने का सही समय क्या है, इस बारे में जानकारी होना जरूरी है. आइए जानें किस समय प्रोबायोटिक्स को लेना है अधिक फायदेमंद?

ये भी पढ़ें: अगर करना चाहते हैं अपना वजन कम, तो मूंगफली आ सकती है आपके काम

प्रोबायोटिक्स को लेने का सही समय क्या है?
हेल्थलाइन के अनुसार कुछ प्रोबायोटिक मैनुफक्चरर इन सप्लीमेंट्स को खाली पेट लेने की सलाह देते हैं, जबकि कुछ इसे खाने के साथ लेने के लिए कहते हैं. रिसर्च यह बताती हैं कि खाली पेट यानी ब्रेकफास्ट या सोने से पहले इनका सेवन करना सबसे सही समय है. खाली पेट इनका सेवन सबसे अधिक प्रभावी माना गया है. खाना खाने से तीस मिनट्स पहले प्रोबायोटिक्स को लेने से अच्छे बैक्टीरिया को आपके गट में जाने में कम समय लगेगा. यानी, इन्हें सुबह के समय खाली पेट लेना सबसे बेहतरीन है.

कौन से फूड्स से प्रोबायोटिक्स मिल सकते हैं?
अपनी डायट में आप प्रोबायोटिक फूड्स को शामिल कर सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:
-दही
-छाछ
-कॉटेज चीज
-किमची

ये भी पढ़ें: तनाव कम करने के लिए करें ब्रीदिंग एक्सरसाइज, जानिए सही तरीका

इसके साथ ही आप सप्लीमेंट्स से भी प्रोबायोटिक्स को प्राप्त कर सकते हैं. प्रोबायोटिक्स को रोजाना एक ही समय लेना अधिक प्रभावी रहता है. प्रोबायोटिक्स के आमतौर पर कोई भी साइड-इफेक्ट्स नहीं होते हैं. दुर्लभ मामलों में हलके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जैसे ब्लोटिंग आदि. अगर आप अपनी डाइट में इन्हे शामिल करने की सोच रहे हैं, तो डॉक्टर से बात करें. वो आपको इस बारे में सही सलाह देंगे कि आपको इन्हें लेने की जरूरत है या नहीं.

Tags: Health, Life, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top