स्वास्थ्य

Benefits of Giloy: कई बीमारियों का इलाज है गिलोय, जानें 5 हेल्थ कंडीशंस में इसके फायदे

Benefits of Giloy: कई बीमारियों का इलाज है गिलोय, जानें 5 हेल्थ कंडीशंस में इसके फायदे


हाइलाइट्स

गिलोय एक आयुर्वेदिक हर्ब है जिसका इस्तेमाल इंडियन मेडिसिन में सदियों से किया जा रहा है.
गिलोय की मेडिसिन प्रॉपर्टीज के कारण इस औषधि का इस्तेमाल कई हेल्थ कंडीशंस में किया जा सकता है.
गिलोय के इस्तेमाल से डायबिटीज, पाचन तंत्र, स्ट्रेस आदि में लाभ हो सकता है.

Benefits of Giloy: गिलोय एक आयुर्वेदिक हर्ब है जिसका इस्तेमाल इंडियन मेडिसिन में सदियों से किया जा रहा है. संस्कृत में गिलोय का अर्थ होता है अमृत. गिलोय को अमृत इसलिए माना गया है क्योंकि इसके बहुत से हेल्थ बेनेफिट्स हैं. गिलोय का तना सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन इसकी जड़ के भी बहुत से फायदे हैं. गिलोय को जूस, पाउडर या कैप्सूल्स के रूप में लिया जा सकता है. इसके साथ ही इसका इस्तेमाल लोग काढ़ा बना कर भी करते हैं. गिलोय की मेडिसिन प्रॉपर्टीज के कारण इस औषधि का इस्तेमाल कई हेल्थ कंडीशंस में किया जा सकता है. आइए जानें गिलोय के सेवन करने से इन किन-किन हेल्थ कंडीशंस में हो सकता है बेनेफिट.

किन हेल्थ कंडीशंस में करें गिलोय का इस्तेमाल?
हेल्थलाइन के अनुसार इसका इस्तेमाल कई सालों से इंडिया में ट्रेडिशनल मेडिसिन के रूप में किया जाता रहा है. यह इम्यून सिस्टम को सपोर्ट करने और ब्लड शुगर लेवल को सही रखने जैसी कई समस्याओं में लाभदायक हैं. गिलोय का इस्तेमाल इन हेल्थ कंडीशंस के लिए किया जा सकता है:

खराब डाइजेशन– गिलोय डाइजेशन को सुधारने और बाउल रिलेटेड इशूज को सुधारने में मददगार है. इसके इस्तेमाल से कब्ज में भी राहत मिलती है.

ये भी पढ़ें: Bad breath treatment: मुंह की गंदी बदबू से हैं परेशान तो इन चीज का करें इस्तेमाल, गारंटी से दूर भागेगी स्मेल

डायबिटीज– गिलोय एक हायपोग्लाइसेमिक ड्रग की तरह काम करता है और डायबिटीज के उपचार में मदद कर सकता है. हाय ब्लड शुगर लेवल को कम करने के लिए इसका जूस पीने से लाभ होता है.

स्ट्रेस और एंजाइटी– गिलोय का एक एडेप्टोजेनिक हर्ब के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है. यह स्ट्रेस और एंजाइटी को कम करने में मददगार है. 

आर्थराइटिस- गिलोय में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-अर्थरिटिस प्रॉपर्टीज होती हैं जो आर्थराइटिस का उपचार करने के और इसके लक्षणों को दूर करने में सहायक हैं. जोड़ों में दर्द के लिए गिलोय के तने के भाग को दूध के साथ उबाला जाता है और फिर इसका सेवन किया जाता है. 

ये भी पढ़ें: इन 5 सब्जियों को खाने के अलावा स्किन पर भी कर सकते हैं इस्तेमाल, जानिए इनके फायदे

अस्थमा– गिलोय का इस्तेमाल अस्थमा में होने वाली समस्याएं जैसे चेस्ट टाइटनेस, सांस लेने में समस्या, खांसी आदि में किया जाता है. इस स्थिति में रोगी को गिलोय की जड़ को चबाने या गिलोय जूस को पीने की सलाह दी जाती है.

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top