स्वास्थ्य

हाथों में हो रही खुजली का कारण कहीं कोविड आर्म तो नहीं? जानें कैसे पाएं छुटकारा

हाथों में हो रही खुजली का कारण कहीं कोविड आर्म तो नहीं? जानें कैसे पाएं छुटकारा


हाइलाइट्स

कोविड आर्म की समस्‍या कई दिनों तक परेशान कर सकती है.
कोविड आर्म होने पर हाथों में खुजली और सूजन हो सकती है.

What Is Covid Arm: पिछले कुछ सालों में कोविड-19 वैक्‍सीन करोड़ों लोगों को लगाई जा चुकी है. कई लोगों ने तो इसके दोनों डोज के साथ बूस्‍टर डोज भी लगवा लिए हैं. वैक्‍सीन के डोज लगने के बावजूद भी कई लोग इसका शिकार हो रहे हैं. अन्‍य वैक्‍सीनेशन की तरह कोविड-19 वैक्‍सीन के भी कुछ साइड इफेक्‍ट हो सकते हैं. वैक्‍सीन के बाद बुखार, थकान, उल्‍टी या हाथ-पैरों में सूजन, आम समस्‍या के रूप में आमने आ रही है. ऐसी की एक समस्‍या है कोविड आर्म की, जो वैक्‍सीन के बाद कई लोगों को परेशान कर सकती है. कोविड आर्म की समस्‍या पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को अधिक हो सकती है. आखिर ये कोविड आर्म है क्‍या. चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्‍तार से.

क्‍या है कोविड आर्म?
हेल्‍थ डॉट कॉम के अनुसार कोविड-19 वैक्‍सीन लगने के बाद शरीर का इम्‍यून सिस्‍टम जिस प्रकार से प्रतिक्रिया करता है, उसे ही कोविड आर्म कहा जाता है. कोविड आर्म जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है कि ये समस्‍या वैक्‍सीन के बाद बांह पर उभरती है. खासकर वैक्‍सीन की जगह पर लाल चकत्‍ते, खुजली और सूजन की समस्‍या हो सकती है. कई बार इस घाव को छूने में भी दर्द हो सकता है. कोविड आर्म की समस्‍या तुरंत नहीं उभरती. आमतौर पर ये समस्‍या 5-9 दिनों में दिखाई देती है. कई चिकित्‍सकों का कहना है कि ये अन्‍य वैक्‍सीन के साइड इफेक्‍ट की तरह नहीं है जो एक से दो दिन के भीतर होती है. इसके लक्षण अलग और कई बार गंभीर भी हो सकते हैं.

कितने दिन रहती है कोविड आर्म की समस्‍या
अधि‍कतर मामलों में देखा गया है कि कोविड आर्म की समस्‍या 20 से 25‍ दिन तक रहती है. हालांकि ये एक हानिरहित समस्‍या है लेकिन बाहों में दर्द और सूजन के कारण परेशानी का सबब बन सकती है.

ये भी पढ़ें: उबली चाय पत्ती को फेंके नहीं, इस तरह करें घर के कामों में इस्तेमाल

ऐसे पाएं कोविड आर्म से छुटकारा
खुजली को कम करने के लिए स्‍टेरॉयड का सेवन कर सकते हैं साथ ही प्रभावित जगह पर बर्फ की सिकाई करने से सूजन को कम किया जा सकता है. कोविड आर्म पर नियमित रूप से ऑयल का प्रयोग करें ताकि पैच या दानों को बढ़ने से रोका जा सके. ये कोई इंफेक्‍शन नहीं है इसलिए एंटी-बायोटिक्‍स का प्रयोग बिल्‍कुल न करें. कोविड आर्म की समस्‍या को बढ़ने के पहले इसका सही ट्रीटमेंट किया जा सकता है. ये समस्‍या होने पर डॉक्‍टर से अवश्‍य संपर्क करें.

ये भी पढ़ें: Pet Care Tips: सर्दियों में अपने पालतू का रखें ख्याल, अपनाएं कुछ आसान टिप्स

Tags: Covid, Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top