स्वास्थ्य

हरी मटर का अधिक सेवन पहुंचाता है नुकसान, बॉडी में इस एक विटामिन की हो सकती है बढ़ोतरी

हरी मटर का अधिक सेवन पहुंचाता है नुकसान, बॉडी में इस एक विटामिन की हो सकती है बढ़ोतरी


हाइलाइट्स

हरी मटर कैल्शियम की कमी का कारण बन सकती है.
हाई यूरिक एसिड में हरी मटर का सेवन ना करें.
मटर ब्लोटिंग और गैस का कारण भी बन सकती है.

Side Effects Of Green Peas : सर्दियों के मौसम में अलग-अलग तरीके से खाई जाने वाली हरी मटर प्लांट बेस्ड प्रोटीन का बेहतरीन सोर्स होती है, जिसके कई शानदार हेल्थ बेनिफिट्स होते हैं. लेकिन, क्या आप जानते हैं कि अत्यधिक हरी मटर खाने से आपको कुछ नुकसान भी हो सकते हैं. जी हां, पोषक तत्वों से भरपूर हरी मटर सर्दियों के दिनों में बड़े स्तर पर इस्तेमाल की जाती है, जो विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन डी, विटामिन सी और विटामिन के से भरपूर होती है. इसमें कोलीन, राइबोफ्लेविन जैसे कंपाउंड भी मौजूद होते हैं, जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं. हम आपको इस लेख में हरी मटर खाने के फायदे नहीं, बल्कि अधिक सेवन से होने वाले कुछ नुकसान के बारे में बता रहे हैं. आइए जानते हैं.

ये भी पढ़ें: रिसर्च में सामने आई बात, एंटी-इंफ्लामेटरी डाइट से नहीं होगी भूलने की बीमारी, जानें क्या हैं ये

हरी मटर से होने वाले नुकसान 

विटामिन के स्तर
ब्लेंडऑफबाइट्स डॉट कॉम के अनुसार, हरी मटर में विटामिन के भरपूर मात्रा में मौजूद होता है, जो शरीर में मेटाबॉलिज्म, ब्लड कैल्शियम लेवल और सेल्स में एनर्जी लेवल को बढ़ाकर ब्लड क्लॉटिंग के खतरे को बढ़ा सकता है. विटामिन के शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है, लेकिन इसका सेवन हाई यूरिक एसिड, ब्लड क्लॉटिंग और थ्रोम्बोफ्लिबिटिस जैसी समस्याओं में नही करना चाहिए.

मोटापे का कारण
हरी मटर प्लांट प्रोटीन का बेहतरीन सोर्स है, जिसे अधिकतर लोग भूल जाते हैं और मटर का सेवन बिना सोचे-समझे करने लगते हैं. मटर का सेवन बहुत ज्यादा मात्रा में करने से वजन बढ़ सकता है, इसलिए मटर का सेवन सही मात्रा में ही करें.

ब्लोटिंग और गैस का कारण
हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, मटर में शुगर की मात्रा अधिक होती है, जो कई बार ब्लोटिंग और गैस का कारण बन सकती है. मटर में मौजूद शुगर को डाइजेस्ट होने में समय लगता है और ये डाइजेस्टिव डिसऑर्डर्स का कारण बनता है.

एंटी-न्यूट्रिएंट्स युक्त
हरी मटर में फाइटिक एसिड और लेक्टिन जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो अन्य कई पोषक तत्व को एब्जॉर्ब करने में बाधा का कारण बनते हैं. यही हरी मटर का सबसे बड़ा दुष्प्रभाव होता है, जो शरीर में पोषक तत्वों की कमी और कुपोषण का कारण बनता है.

ये भी पढ़ें: विंटर के इन 4 ‘सुपर हेल्दी’ फ्रूट्स को डाइट में शामिल कर बीमारियों को भगाएं दूर

गठिया का कारण
हरी मटर प्रोटीन, अमीनो एसिड, विटामिन डी और फाइबर से भरपूर होती है, लेकिन इसके अलावा यह कैल्शियम की कमी का कारण बन सकती है, जिससे शरीर में यूरिक एसिड बढ़कर गाउट यानी गठिया के भयानक दर्द का कारण बन सकता है. ऐसे में हरी मटर का सेवन करते समय सावधान रहना चाहिए.

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top