स्वास्थ्य

शरीर के लिए चमत्कारी हैं ये काले बीज, 3 जानलेवा बीमारियों से दिलाएंगे छुटकारा, दिमाग बनाएंगे कंप्यूटर जैसा तेज

शरीर के लिए चमत्कारी हैं ये काले बीज, 3 जानलेवा बीमारियों से दिलाएंगे छुटकारा, दिमाग बनाएंगे कंप्यूटर जैसा तेज


हाइलाइट्स

काली मिर्च का सेवन करने से इंसुलिन सेंसिटिविटी को इंप्रूव किया जा सकता है.
हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के लिए भी काली मिर्च का सेवन बेहद लाभकारी है.

Black Paper Amazing Benefits: काली मिर्च दुनियाभर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले मसालों में से एक है. इसका स्वाद तीखा और हल्का मसालेदार होता है, जो कई व्यंजनों का स्वाद बढ़ा देता है. हिंदू धर्म में काली मिर्च का इस्तेमाल पूजा-पाठ के काम में भी किया जाता है. काली मिर्च को सेहत के लिए भी बेहद चमत्कारी माना जा सकता है. इसमें शक्तिशाली औषधीय तत्व होते हैं, जिसकी वजह से आयुर्वेद में इसे कई बीमारियों के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. प्राचीन काल से काली मिर्च का सेवन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए किया जा रहा है. काली मिर्च के सेहत लाभ पर कई रिसर्च में भी मुहर लग चुकी है और इसे कई परेशानियों से राहत दिलाने में असरदार माना गया है. आपको काली मिर्च के सबसे बड़े फायदों के बारे में बता रहे हैं.

एंटीऑक्सिडेंट का भंडार – काली मिर्च का शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट का खजाना माना जा सकता है. ये एंटीऑक्सिडेंट शरीर में पहुंचकर फ्री रेडिकल्स के हानिकारक प्रभाव को रोकते हैं. हेल्थलाइन की रिपोर्ट के अनुसार प्रदूषण, सिगरेट के धुएं और सूरज की किरणों जैसी चीज़ों के संपर्क में आने से फ्री रेडिकल्स बन सकते हैं, जो शरीर में इंफ्लेमेशन पैदा कर सकते हैं और हार्ट डिजीज-कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों का खतरा बढ़ाते हैं. काली मिर्च में मौजूद पिपेरिन इन फ्री रेडिकल्स से शरीर को बचाता है और लोगों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है.

इंफ्लेमेशन करे कम – काली मिर्च हमारे शरीर में बढ़ने वाली सूजन को कम करने में असरदार है. शरीर के विभिन्न हिस्सों में इंफ्लेमेशन बढ़ जाए, तो अर्थराइटिस, हार्ट डिजीज और डायबिटीज की बीमारी हो सकती है. काली मिर्च में मौजूद यौगिक शरीर की सूजन को कम करने में मददगार होते हैं. इससे एलर्जी, अस्थमा, अर्थराइटिस समेत कई बीमारियों का खतरा कम हो सकता है. साथ ही मौसमी एलर्जी से भी काफी हद तक राहत मिलती है.

ब्रेन के लिए लाभकारी – काली मिर्च को हमारे दिमाग के लिए बेहद फायदेमंद माना जा सकता है. एक एनमिल स्टडी में पता चला कि काली मिर्च में मौजूद पिपेरिन ब्रेन की फंक्शनिंग को बेहतर बना देता है. खासतौर से जिन लोगों को अल्जाइमर और पार्किंसंस जैसी परेशानी है, उन्हें काली मिर्च के सेवन से काफी हद तक राहत मिल सकती है. काली मिर्च याददाश्त में सुधार कर सकती है. अगर आपको अपनी मेमोरी को तेज बनाना है, तो काली मिर्च का एक तय लिमिट में सेवन कर सकते हैं. इससे आपको लंबे समय तक याददाश्त तेज रखने में मदद मिल सकती है.

यह भी पढ़ें- मोटापा छूमंतर कर देंगे 5 स्वादिष्ट फल, कुछ ही दिनों में शरीर पर जमी चर्बी से मिलेगा छुटकारा, फायदे ही फायदे

ब्लड शुगर करे कंट्रोल – कई एनमिल स्टडीज से पता चला है कि काली मिर्च में मौजूद पिपेरिन एंटीऑक्सिडेंट ब्लड शुगर मेटाबॉलिज्म में सुधार कर सकता है. काली मिर्च का सेवन करने से डायबिटीज के मरीजों को अपना ब्लड शुगर कंट्रोल रखने में मदद मिल सकती है. एक अन्य स्टडी में शामिल 86 लोगों को 8 स्तीह तक पिपेरिन और अन्य यौगिकों वाले सप्लीमेंट दिए गए, जिससे उनके शरीर की इंसुलिन सेंसिटिविटी में काफी सुधार हुआ. इंसुलिन सेंसिटिविटी में सुधार होने से शुगर लेवल नियंत्रित रहता है. हालांकि इस बारे में अभी ज्यादा रिसर्च की जरूरत है.

यह भी पढ़ें- छोड़िए काजू-बादाम, इस पौधे का पत्ता खाकर देखिए, कमजोर शरीर में फूंक देगा जान, पहलवान जैसी आएगी ताकत

कैंसर का खतरा करे कम – काली मिर्च का सेवन करने से कैंसर का खतरा कम हो सकता है. दरअसल काली मिर्च में एक सक्रिय यौगिक होता है, जो कैंसर सेल्स की रेप्लिकेशन को धीमा कर सकता है. इससे कैंसर से बचने में मदद मिल सकती है. इसके अलावा काली मिर्च में कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले गुण भी होते हैं. कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की परेशानी से जूझ रहे लोगों को काली मिर्च का सेवन करना चाहिए. हालांकि इससे पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए.

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle, Trending news



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top