स्वास्थ्य

वर्क एंग्जायटी से त्वचा पर भी पड़ता है असर, स्ट्रेस फ्री स्किन के लिए फॉलो करें ये टिप्स

वर्क एंग्जायटी से त्वचा पर भी पड़ता है असर, स्ट्रेस फ्री स्किन के लिए फॉलो करें ये टिप्स


Work anxiety and stress Effect on Skin: इस भागमभाग जिंदगी में एंग्जायटी और तनाव होना सामान्य सी बात है. हालांकि अगर तनाव कुछ देर के लिए है तो इससे शरीर को नुकसान हीं पहुंचा लेकिन अगर यह लंबे समय तक रहता है तो यह पूरे शरीर को प्रभावित करता है. तनाव और एंग्जायटी का सिर्फ हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर ही असर नहीं पड़ता बल्कि यह हमारी त्वचा पर भी अपना असर डालती है. वर्क एंग्जायटी की वजह से स्किन पर कई तरह के बदलाव आने लगते हैं.

हेल्थशॉट्स की खबर के अनुसार आप की त्वचा ही इस बात के संकेत देने लगती है कि आप वर्क एंग्जायटी से पीड़ित हैं या फिर तनाव महसूस कर रहे हैं. तनाव और एंग्जायटी को लेकर हुए अध्ययनों से यह पता चलता है कि तनाव जितना अधिक पुराना होगा उसका त्वचा पर उतना ही नकारात्मक असर पड़ता है.

वर्क एंग्जायटी और त्वचा के बीच संबंध
मस्तिष्क का संबंध शरीर के सभी अंगों से होता है. मस्तिष्क में होने वाला तनाव से दूसरे अंगों को भी नुकसान पहुंचता है और वर्क एंग्जायटी का त्वचा भी प्रभावित होती है. तनाव, चिंता या डिप्रेशन जैसी मानसिक स्वास्थ्य कंडीशन त्वचा की नई समस्याओं को जन्म दे सकती है या फिर पहले से बनी हुई समस्याओं को और ज्यादा बढ़ा सकती हैं.

एक्सपर्ट के अनुसार जब कोई तनाव से ग्रस्त होता है तो उस दौरान शरीर में कोर्टिसोल और एड्रेनालाईन नामक हार्मोन तेजी से उत्पन्न होता है. यह दोनो हार्मोन हमारी त्वचा की ग्रंथियों में तेल का उत्पादन बढ़ा देते हैं. इससे स्किन के पोर्स बंद हो सकते हैं और मुंहासे की दिक्कत हो सकती है. तनाव पुराना होने पर ये हार्मोन लगातार बढ़ते हैं जिसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

ज्यादा नमक वाली चीजों का सेवन करने से बढ़ सकता है मानसिक तनाव, जानें क्या कहती है रिसर्च

तनाव से स्किन पर होने वाले बदलाव

– इसके साथ ही तनाव त्वचा में आंतरिक सूजन को भी बढ़ा सकती है.इसके साथ ही

– वर्क एंग्जायटी शरीर में कोर्टिसोल का उत्पादन बढ़ा देता है जिससे त्वचा की ग्रंथियों में सीबम का स्तर बढ़ जाता है जिससे मुंहासे होने लगते हैं.

– तनाव मानव शरीर में मौजूद प्रतिरक्षा प्रणाली को ट्रिगर करता है जिससे रिएक्शन क्रिया होती है. इससे हमारी त्वचा अधिक संवेदनशील हो जाती है.

– तनाव आंत में बैक्टीरिया के संतुलन को भी प्रभावित करता है.

– तनाव से सूजन की समस्या भी होने लगती है जो कभी कभी फफोले और चकत्ते के रूप में नजर आती है.

बच्चें के मानसिक विकास के लिए जरूरी है अच्छी नींद, उम्र के अनुसार तय करें सोने का रूटीन
त्वचा को तनावमुक्त रखने के टिप्स

स्वस्थ स्किनकेयर रूटीन बनाए रखें
त्वचा तो तनावमुक्त रखने के आपको स्किनकेयर रूटीन बनाना होगा. शरीर को हाइड्रेट रखने की कोशिश करें. समय समय पर अच्छी क्वालिटी का मॉइस्चराजर का प्रयोग करें.

संतुलित आहार खाएं
अच्छी हेल्थ के लिए जरूरी है कि आप अपने दैनिक जीवन में संतुलित और पौष्टिक आहार लें. डेली ताजे फल और सब्जियों का सेवन करें. प्रोसेस्ड और चीनी से भरे भोजन से बचें क्योंकि ये न केवल आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकते हैं बल्कि समग्र स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकते हैं.

ठीक से आराम करो
सिर्फ अच्छे भोजन से त्वचा का ख्याल नहीं रखा जा सकता है. स्किन पर ग्लो बने रहने के लिए जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में नींद लें. अच्छी नींद से आप एनर्जेटिक रहेंगे और पूरे दिन फ्रेश फील करेंगे.

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें
अच्छी स्किन के लिए जरूरी है कि आप खुद पूरी तरह से फिजकली एक्टिव रखें, इसलिए जरूरी है कि रोजाना नियमित रूप से व्यायाम करें. व्यायाम करने से बॉडी में ब्लड का सर्कुलेशन ठीक रहता है और इससे त्वचा में चमक बनी रहती है.

Tags: Anxiety, Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top