स्वास्थ्य

मसालेदार खाने से होती है सिरदर्द की समस्‍या, कहीं इसकी वजह थंडर क्‍लैप हेडेक तो नहीं?

मसालेदार खाने से होती है सिरदर्द की समस्‍या, कहीं इसकी वजह थंडर क्‍लैप हेडेक तो नहीं?


हाइलाइट्स

थंडर क्‍लैप हेडेक होने पर तेज सिरदर्द और चक्‍कर आ सकते हैं.
थंडर क्‍लैप काली मिर्च के ज्यादा सेवन से ट्रिगर कर सकता है.

What Is Thunderclap Headache: असहनीय सिरदर्द, बेहोशी और चक्‍कर आना, मस्तिष्‍क से संबंधित किसी समस्‍या का संकेत हो सकता है. क्‍या ये समस्‍या किसी मसालेदार खाने से हो सकती है? जी हां, सिर में अचानक तेज दर्द होना जिसमें अस्‍पताल जाने की नौबत आ जाए, तो ये समस्‍या सामान्‍य नहीं बल्कि थंडर क्‍लैप हेडेक हो सकती है. यह हेडेक या सिरदर्द कुछ ही लोगों को होता है. हेडेक के दौरान कुछ सेकेंड के लिए सिरदर्द और गर्दन में दर्द महसूस होता है, लेकिन दर्द की तीव्रता इतनी तेज होती है कि पेशेंट को तुरंत डॉक्‍टर को दिखाना पड़ सकता है. आखिर क्‍यों होता है थंडर क्‍लैप हेडेक? इसके और मसालेदार खाने के बीच क्‍या कनेक्‍शन है? चलिए जानते हैं इसके बारे में.

क्‍या है थंडर क्‍लैप हेडेक?
थंडर क्‍लैप हेडेक को एक तरह का ब्रेन हैमरेज कह सकते हैं. हेल्‍थ डॉट कॉम के अनुसार थंडर क्‍लैप हेडेक अचानक शुरू होता है और आमतौर पर पांच मिनट से कम समय तक रहता है. ये दर्द कुछ ही सेकेंड्स में अपनी तीव्रता तक पहुंच सकता है. इसमें पेशेंट को कान में बिजली चकमने जैसी साउंड सुनाई दे सकती है इसलिए इसे थंडर क्‍लैप हेडेक कहा जाता है. थंडर क्‍लैप हेडेक के पीछे कोई स्‍पेसिफिक कारण नहीं है लेकिन ब्‍लडप्रेशर में उतार-चढ़ाव के कारण भी ये हो सकता है. कई बार ये स्थिति काफी खतरनाक हो सकती है.

क्‍या मसालेदार खाने से थंडर क्‍लैप हेडेक हो सकता है?
मसालेदार खाने से कई बार थंडर क्‍लैप हेडेक की समस्‍या बढ़ सकती है. खासकर अधिक काली मिर्च खाने वाले लोगों में इसके संकेत देखे जा सकते हैं. अधिक मसालेदार या मिर्च वाला खाना खाने से दिमाग की ब्‍लड वैसल्‍स पर दबाव पड़ सकता है. जिस वजह से से समस्‍या ट्रिगर कर सकती है. आमतौर इस समस्‍या के संकेत पहले नजर नहीं आते जिस वजह से इसे पहचानना बेहद मुश्किल हो जाता है.

इसे भी पढ़ें: बार-बार आता है चक्कर? इन 4 हेल्दी उपायों से पाएं इस समस्या से छुटकारा

मसालेदार खाना खाने के जोखिम
जब भी मसालेदार चीजों के बारे में बात करते हैं तो हमें थोड़ा सतर्क रहना चाहिए. जिन लोगों को पहले से कार्डियक प्रॉब्‍लम या ब्रेन से संबंधित समस्‍या है तो उन्‍हें मसालेदार खाने से दूरी बना लेनी चाहिए. मसालेदार खाना खाने से पेट की परेशानी, सुन्‍नपन और सांस लेने में कठिनाई आ सकती है. पेट में एसिड फॉर्मेशन हो सकता है. मसालेवाले खाने से यदि सिरदर्द की समस्‍या हो रही है तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए. हालांकि कुछ मामलों में सिरदर्द कुछ मिनट बाद अपने आप ही शांत हो सकता है. थंडर क्‍लैप हेडेक सामान्‍य सिरदर्द नहीं है, इसलिए इसके लक्षण नजर आते ही डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें: क्या हाई बीपी और चक्कर आने के बीच है कोई संबंध? जानें कैसे करना है इसे ट्रीट

Tags: Brain, Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top