स्वास्थ्य

भूख बढ़ाने से लेकर पाचनशक्ति करे मजबूत, पिएंगे मौसंबी का जूस, तो होंगे ढेरों सेहत लाभ

भूख बढ़ाने से लेकर पाचनशक्ति करे मजबूत, पिएंगे मौसंबी का जूस, तो होंगे ढेरों सेहत लाभ


Benefits of Mousambi Juice: खट्टे फलों के सेवन की बात की जाए तो नींबू, संतरा के बाद मौसंबी खाना लोग सबसे ज्यादा पसंद करते हैं. मौसंबी का स्वाद खट्टा-मीठा होता है, जिसमें कई तरह के पोषक तत्वों का खजाना होता है. ज्यादातर लोग मौसंबी का जूस पीना पसंद करते हैं, क्योंकि यह कई तरह से सेहत को लाभ पहुंचाता है. इसमें विटामिन सी काफी होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करता है. यह एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटीडायबिटिक गुणों का पावरहाउस होता है. साथ ही, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, विटामिन बी6, थियामिन, आयरन, फाइबर, जिंक, पोटैशियम, कॉपर, फोलेट आदि भी होते हैं. आइए जानते हैं, मौसंबी का जूस पीने से सेहत को किस तरह से लाभ हो सकता है.

इसे भी पढ़ें: फेंके नहीं बल्कि इस तरह से इस्तेमाल करें मौसम्बी के छिलके

मौसंबी का जूस पीने के फायदे

भूख बढ़ाए
नेटमेड्स डॉट कॉम में छपी खबर के अनुसार, इस फल को खाने या इसका जूस पीने से भूख ना लगने की समस्या दूर होती है. जिन लोगों को एनोरेक्सिया की समस्या है, उन्हें भी मौसंबी का जूस पीना चाहिए. एनोरेक्सिया शरीर के वजन में अत्यधिक कमी के कारण होता है. मौसंबी के नियमित सेवन से लार ग्रंथियां उत्तेजित होती हैं, जिससे भोजन का स्वाद अच्छा लगता है. इससे व्यक्ति के अंदर खाने की इच्छा विकसित होती है.

मतली, उल्टी रोके
कई कारणों से जी मिचलाने, उल्टी जैसी समस्याएं होने लगती हैं. खासकर, प्रेग्नेंसी, अपच, हार्मोनल असंतुलन, महत्वपूर्ण अंगों में कोई समस्या होने से भी उल्टी या मतली की समस्या होती है. ऐसे में मौसंबी खाने या इसका जूस पीने से मतली और उल्टी से राहत मिलती है, क्योंकि इसका स्वाद लक्षणों को तुरंत कम कर देता है.

स्कर्वी रोग से बचाए
शरीर में विटामिन सी की कमी के कारण स्कर्वी रोग होता है. इस बीमारी में अत्यधिक थकान, मसूड़ों से खून बहना, चोट लगना, बाल झड़ने जैसी समस्याएं नजर आ सकती हैं. विटामिन सी से भरपूर मौसंबी इस रोग को ठीक करने में मदद करता है. स्कर्वी है, तो प्रतिदिन कम से कम 2 गिलास मौसंबी का जूस पिएं.

इसे भी पढ़ें: हड्डियों को मजबूती देता है मौसंबी का जूस, 6 प्वाइंट्स में जानें इसके फायदे

पीलिया में मौसंबी जूस पीना है हेल्दी
पीलिया ब्लड में बिलीरुबिन के बढ़ने के कारण होता है और यह हेपेटाइटिस, पित्त में पथरी, ट्यूमर के कारण भी हो सकता है. पीलिया से पीड़ित मरीजों को सख्त आहार लेने की जरूरत होती है, क्योंकि तैलीय, चिकना भोजन स्थिति को और खराब कर सकता है. मौसंबी का सेवन पीलिया में किया जाता है, क्योंकि यह आसानी से पच जाता है और लीवर की कार्यक्षमता में सुधार करता है.

इम्यूनिटी करे मजबूत
विटामिन सी से भरपूर मौसंबी का जूस रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करके कई रोगों, इंफेक्शन से बचाता है. कई तरह के मौसमी संक्रमणों जैसे खांसी, सर्दी और बुखार से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. विटामिन सी का पावरहाउस होने के कारण यह एक इम्यूनिटी बूस्टर जूस है. वायरल और बैक्टीरियल संक्रमणों को मात देने के लिए सप्ताह में कम से कम तीन बार इस फल का सेवन करें.

डिहाइड्रेशन से बचाए
यदि आप डिहाइड्रेशन के शिकार नहीं होना चाहते हैं, तो मौसंबी का जूस जरूर पिएं. डिहाइड्रेशन के कारण आपको अचानक बुखार, ठंड लगना, चेतना की हानि से लेकर इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन जैसी गंभीर स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है. पोटैशियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज और अन्य खनिजों से भरपूर एक गिलास मौसंबी का जूस पीने से शरीर में खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट्स बैलेंस को वापस लाकर हाइड्रेट रह सकते हैं.

हड्डियां बनें मजबूत
हड्डियों की समस्या अक्सर बढ़ती उम्र के साथ सामने नजर आने लगती हैं. लोग ऑस्टियोअर्थराइटिस, रुमेटाइड अर्थराइटिस से ग्रस्त हो जाते हैं. ये सभी प्रतिरक्षा कोशिकाओं के कारण टिशूज में इंफ्लेमेशन होने का परिणाम है. विटामिन सी और फोलिक एसिड से भरपूर मौसंबी का जूस हड्डियों को मजबूती देता है और जोड़ों की कार्यक्षमता को सुधारता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top