स्वास्थ्य

बीमारियों से बचना है तो मुंह को रखें बैक्टीरिया-फ्री, घरेलू उपायों से ऐसे करें ओरल हाइजीन मेंटेन

बीमारियों से बचना है तो मुंह को रखें बैक्टीरिया-फ्री, घरेलू उपायों से ऐसे करें ओरल हाइजीन मेंटेन


Oral Hygiene Tips : किसी भी बीमारी से बचने के लिए यह जरूरी है कि हमारा ओरल हाइजीन (Oral hygiene) अच्‍छा हो और हम मुंह के अंदर बैक्‍टीरिया को पनपने और बढ़ने से रोक सकें. दरअसल जब हम बेहतर तरीके से मुंह की सफाई नहीं करते हैं तो दांतों और जीभ पर कई ऐसे बैक्टीरिया पनपने लगते हैं जिनकी वजह से मुंह से बदबू (Bad Mouth Odour) और दांतों में कीड़ा लगने की समस्‍या शुरु हो जाती है. बैक्टीरिया और किसी तरह के टॉक्सिन के बढ़ने की वजह से संक्रमण हमारे शरीर के अन्य हिस्सों में भी तेज़ी से फैलने लगता है. ऐसे में यहां हम आपको बताते हैं कि आप अपने मुंह को बैक्टीरिया और टॉक्सिन्स-फ्री रखने के लिए क्‍या कर सकते हैं.

मुंह को बैक्‍टीरिया फ्री रखने के घरेलू उपाय 

ऑयल पुलिंग
मुंह को बैक्‍टीरिया फ्री बनाने के लिए आप ऑयल पुलिंग का सहारा ले सकते हैं. इसके लिए लगभग 20 मिनट के लिए मुंह में लगभग एक टेबलस्पून ऑर्गैनिक ऑयल लेकर घुमाएं और फिर उसे थूक दें. इसके बाद गर्म पानी से कुल्‍ला कर लें. ऐसा करने से मुंह में मौजूद ख़राब बैक्टीरिया घटते हैं और टॉक्सिन्स से छुटकारा मिलता है.

इसे भी पढ़ेंः Acidity In Summer: गर्मियों में एसिडिटी का इलाज करेंगी ये चीजें, पेट को रखेंगी ठंडा

जीभ रखें साफ़
आप एक लचीली नीम की टहनी लें और उसे मोड़कर डिस्पोज़ेबल जिभिया यानी जीभ खुरचनी बनाकर जीभ साफ करें. जीभ को नियमित रूप से इस तरह साफ़ करने से बैक्टीरिया और टॉक्सिन्स से छुटकारा मिलता है.

मसूड़ों की मालिश
मसूड़ों की मालिश करने से ब्‍लड सकुर्लेशन अच्‍छा रहता है और संक्रमण दूर रहता है. इसके लिए आप टी ट्री ऑयल और नीम का तेल लें और दोनों को मिलाकर इसे उंगली की की मदद से मालिश करें. इस तेल में एंटी-बैक्टीरियल, ऐंटी-फ़ंगल, ऐंटी-वायरल, ऐंटी-ऑक्सिडेंट्स और ऐंटी-इंफ़्लेमेटरी गुण हाते हैं जो ओरल प्रॉब्लम को कम करने में मदद करते हैं.

इसे भी पढ़ेंः Herbal Drinks For Pimple: पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए पिएं ये 3 स्पेशल हर्बल ड्रिंक्स

करें माउथवॉश का इस्‍तेमाल
इस माउथवॉश तैयार करने के लिए दो से तीन लौंग, एक मुट्ठी पुदीना और कुछ पार्सले के पत्तों को लें और एक साथ दो कप पानी में उबाल लें. इससे दिन में कम से कम दो बार कुल्ला करें. पुदीने के कीटाणुनाशक और जीवाणुरोधी गुण मुंह में बैक्टीरिया के विकास को रोकते हैं, जबकि लौंग और पार्सले सांसों से आनेवाली दुर्गंध से छुटकारा पाने में मददगार साबित होते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top