स्वास्थ्य

डॉर्क चॉकलेट खाने के हैं शौकीन तो रहें सावधान, इसका मेटल खराब कर सकता है आपका स्वास्थ्य

डॉर्क चॉकलेट खाने के हैं शौकीन तो रहें सावधान, इसका मेटल खराब कर सकता है आपका स्वास्थ्य


Metal Dark Chocolate: चॉकलेट खाना अधिकांश लोगों को पसंद होता है. अक्सर लोग इसे खाना खाने के बाद लेना पसंद करते हैं. चॉकलेट कई तरह की होती है इनमें से एक है डॉर्क चॉकलेट. डॉर्क चॉकलेट का सेवन हृदय रोग के लिए अच्छा माना जाता है लेकिन अब इसे लेकर एक हैरान करने वाली बात सामने आई है. अगर आप भी डॉर्क चॉकलेट के शौकीन हैं तो अब थोड़ा संभल जाइए. रिपोर्ट के अनुसार डॉर्क चॉकलेट में भारी मात्रा में मेटल होता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है.

एवरीडे हेल्थ के अनुसार कंज्यूमर रिपोर्ट्स के शोधकर्ताओं ने 28 डार्क चॉकलेट बार में विभिन्न भारी धातुओं की मात्रा को मापा. शोधकर्ताओं की मानें तो हर एक चॉकलेट बार में कैडमियम और लेड होता है 23 चॉकलेट बार में धातुओं की इतनी मात्रा पाई गई कि जो कि स्वास्थ्य को खराब करने के लिए पर्याप्त थी. अगर कोई दिन में पांच चॉकलेट बार खाता है तो लेड और कैडमियम के संभावित खतरनाक स्तर थे.

वैज्ञानिकों ने यह देखने के लिए डार्क चॉकलेट बार का परीक्षण किया कि कैलिफोर्निया में अधिकतम खुराक के स्तर की अनुमति से कितनी ज्यादा थी जहां पर्यावरण और सुरक्षा नियम काफी सख्त होते हैं. आपको बता दें कि कैलिफोर्नियां में लेड के लिए अधिकतम स्वीकार्य खुराक 0.5 माइक्रोग्राम और कैडमियम के लिए 4.1 माइक्रोग्राम है. कई ब्रांड्स डार्क चॉकलेट बनाते हैं और इनमें से कई ब्रांड में लेड और कैडमियम की मात्रा अधिक थी.

चॉकलेट में कैसे मिलता है लेड और कैडमियम
कैडमियम प्राकृतिक रूप से पृथ्वी की परत पर पाया जाने वाला खनिज है. यह सिगरेट के धुए में भी पाया जाता है. इसके अतिरिक्त यह बैटरी और प्लास्टिक में भी पाया जाता है. लोग जब भी अनहेल्दी खाद्य पदार्थ और दूषित हवा के संपर्क में आते हैं तो वह कैडमियम के संपर्क में आ जाते हैं. कैडमियम की अधिक मात्रा होने पर उल्टी और दस्त शुरू हो सकते हैं और इससे गुर्दे भी प्रभावित हो सकते हैं.

सीसा भी प्राकृतिक रूप से पृथ्वी की पपड़ी में पाया जाने वाला खनिज है. संयुक्त राज्य अमेरिका में गैसोलीन और पेंट में सीसे के उपयोग को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है. लेकिन, यह अभी भी विभिन्न प्रकार के धातु मिश्रण और औद्योगिक उत्पादों में उपयोग किया जाता है. सीसे का शरीर में पहुचना छोटे बच्चों के स्वास्थ्य के लिए घातक है.

कंज्यूमर रिपोर्ट्स के अनुसार, कैडमियम और लेड अलग-अलग तरीकों से चॉकलेट में मिलते हैं. कैडमियम उस मिट्टी में मौजूद होता है जहां कोको बीन्स उगते हैं जबकि वहीं सीसा धूल में होता है जो बीन्स की ऊपरी परत पर जमा हो जाता है.

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top