स्वास्थ्य

डायबिटीज की समस्या में बड़ी राहत देंगे ये 6 हर्ब्स, शुगर का लेवल कम करने के लिए शुरू करें सेवन

डायबिटीज की समस्या में बड़ी राहत देंगे ये 6 हर्ब्स, शुगर का लेवल कम करने के लिए शुरू करें सेवन


हाइलाइट्स

आजकल हर उम्र के लोग डायबिटीज का शिकार हो रहे हैं
डायबिटीज में परहेज से ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं
कुछ आर्युवेदिक हर्ब्स ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकती हैं

Herbs For Diabetes: डायबिटीज असंतुलित जीवनशैली, तनाव और मोटापे से जुड़ी बीमारी है जिसमें ब्लड शुगर को कंट्रोल करना सबसे महत्वपूर्ण होता है.  यूं तो डायबिटीज टाइप वन और टू दो तरह की होती है. लेकिन, आज के दौर में ज्यादातर डायबिटीज के मामले खानपान की वजह से सामने आ रहे हैं. ऐसे में मरीज को खानपान पर खास ध्यान रखना पड़ता है ताकि उसका ब्लड शुगर कंट्रोल में रहे. कई तरह की दवाएं खाने से शरीर पर भी कई साइड इफेक्ट होते हैं और ऐसे में डॉक्टर भी सलाह देते हैं कि नेचुरली और आयुर्वेदिक हर्ब्स से ब्लड शुगर को कंट्रोल में लाया जा सकता है.

ये आयुर्वेदिक हर्ब्स डायबिटीज को कंट्रोल में करने में मदद करती है और ब्लड शुगर को बढ़ने नहीं देने के लिए काम करती है. ये नेचुरली ग्रो करती हैं इसलिए इनके इस्तेमाल से साइड इफेक्ट की आशंकाएं भी काफी कम होती है. आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ हर्ब्स के बारे में जिनका उपयोग करके ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखा जा सकता है.

 ये भी पढ़ें: खांसी और गले की खराश में लाभकारी है अनानास का जूस, जानिए इस्तेमाल का तरीका

मेथी के बीज
मेडिकल न्यूज़ टुडे के मुताबिक मेथी यूं तो स्वाद में कड़वी होती है लेकिन ये ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद कर सकती है. सलाह दी जाती है कि मेथी का खाली पेट सेवन करना चाहिए जिससे पहले से बढ़े हुए ब्लड शुगर का लेवल कम करने में सहायता मिलेगी. दरअसल मेथी ग्लूकोज को पचाने में मदद करता है और बेड कोलेस्ट्रोल को कम करता है. आप मेथी के बीजों को पानी में उबाल कर पी सकते हैं औऱ सब्जी बनाने में भी इसे यूज कर सकते हैं.

दालचीनी
दालचीनी डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत कारगर हर्ब्स साबित हो सकती है.  दरअसल इसमें ऐसे बायोएक्टिव घटक मौजूद होते हैं जो ब्लड शुगर के लेबल को कम करने में मदद कर सकते हैं. दालचीनी का नियमित सेवन इंसुलिन रेजिस्टेंस को सामान्य करके शरीर में अतिरिक्त शुगर को पचाने और इसे नियंत्रण में लाने में कारगर होता है. आप चाहें तो ग्रीन टी, दलिए या सलाद के ऊपर छिड़कर दालचीनी का सेवन कर सकते हैं.

गुड़मार
गुड़मार आमतौर पर तो किचन में नहीं पाई जाती लेकिन इसकी जड़ का चूर्ण आपको आयुर्वेदिक दवा की दुकान पर मिल जाएगा. गुड़मार का वैज्ञानिक नाम  जिमनेमा सिल्वेस्ट्रे है. गुड़मार को विशेष तौर पर एंटी-डायबिटीज औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है क्योंकि ये शरीर में ग्लूकोज के अवशोषण में मदद करने के साथ साथ शरीर में डायबिटीज के साइड को भी रोकने का काम करती है. डायबिटीज के लिए बनी कई आर्युवेदिक दवाओं को बनाने में इसका इस्तेमाल किया जाता है. आप इसके चूर्ण को गर्म पानी के साथ दिन में दो बार ले सकते हैं. 

ये भी पढ़ें: लंबा जीने के लिए फेफड़ों का हेल्दी होना है जरूरी, इन 5 नेचुरल टिप्स से करें सफाई

काली मिर्च
आपके किचन में रखी काली मिर्च स्वाद में भले ही तीखी हो लेकिन ये डायबिटीज की दुश्मन कही जा सकती है. दरअसल काली मिर्च में ब्लड शुगर लेवल को कम करने के गुण होते हैं. काली मिर्च में ‘पाइपरीन’ नामक तत्व मौजूद होता है जो ब्लड शुगर के लेवल  को सामान्य बनाए रखने में कारगर साबित होता है. आप काली मिर्च को सलाद, चाय या सब्जी में इस्तेमाल कर सकते हैं.

करी पत्ता
सब्जी में स्वाद बेहतर करने के लिए घरों के किचन में करी पत्ता भी मिलेगा और घरो में इसके पौधे भी दिखेंगे. इसके सेवन से  हाई ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है. दरअसल करी पत्ते में मौजूद मिनिरल्स शरीर में ग्लूकोज स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं. करी पत्ते के उपयोग से शरीर में  इंसुलिन की गतिविधियों को बढ़ावा मिलता है. आप सुबह सुबह खाली पेट करी पत्ता चबा सकते हैं और चाय में भी करी पत्ते को डाल सकते हैं. 

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top