स्वास्थ्य

टेनिस प्लेयर किन्वेन झेंग को पीरियड्स का दर्द हुआ इतना की हार गईं मैच, ज़रूरी दिनों में क्रैम्प से यूं निपटें

टेनिस प्लेयर किन्वेन झेंग को पीरियड्स का दर्द हुआ इतना की हार गईं मैच, ज़रूरी दिनों में क्रैम्प से यूं निपटें


How to Reduce Periods Cramps: कुछ युवतियों और महिलाओं को पीरियड्स का दर्द इतना अधिक होता है कि वे किसी भी काम को सही तरीके से कर पाने में असमर्थ हो जाती हैं. कई बार दर्द के कारण स्कूल-कॉलेज जाने वाली लड़कियां क्लासेस, फंक्शन यहां तक कि एग्जाम भी छोड़ देती हैं. ऐसे ही पीरियड्स क्रैम्प से खेल के दौरान परेशान रहीं चाइना की 19 वर्षीय टेनिस प्लेयर किन्वेन झेंग (Qinwen Zheng). दरअसल, फ्रेंच ओपेन में किन्वेन झेंग को खेलने के दौरान काफी सीवियर पीरियड्स का दर्द होने लगा, जिसके कारण उनका खेल बुरी तरह से प्रभावित हुआ और वे मैच हार गईं. ऐसे में कई सवाल मन में उठते हैं कि क्या पीरियड्स में तेज दौड़ने से क्रैम्प तेज हो सकता है. किसी महत्वपूर्ण काम को पूरा करना है, तो किस तरह से मासिक धर्म में होने वाले दर्द को मैनेज कर सकते हैं. पीरियड्स से संबंधित इस समस्या पर विस्तार से बताया हीरानंदानी हॉस्पिटल- फोर्टिस नेटवर्क हॉस्पिटल (वाशी, मुंबई) की कंसल्टेंट गाइनोकोलॉजिस्ट और ऑब्सटेट्रिशियन डॉ. मंजिरी मेहता ने.

इसे भी पढ़ें: Periods के दौरान होता है तेज दर्द तो खाने में शामिल करें ये चीजें, तुरंत मिलेगी राहत

पीरियड्स में क्रैम्प क्यों होता है

मासिक धर्म के दौरान होने वाले क्रैम्प का ताल्लुक उम्र से नहीं होता है. यह कम युवतियों के साथ ही वयस्क महिलाओं को भी होता है. खासकर, पीरियड्स क्रैम्प, पेट में तेज दर्द, ऐंठन पहले और दूसरे दिन अधिक होती है. क्रैम्प आने के कई कारण होते हैं. पीरियड्स आने के दौरान जो ब्लड निकलता है, वो दरअसल गर्भदानी (womb) के अंदर मौजूद लाइनिंग होता है, जो हर महीने बाहर निकलता है. प्रेग्नेंसी के दौरान यह प्रक्रिया और पीरियड्स बंद हो जाती है. लाइनिंग गर्भदानी से अलग होना और लाइनिंग को बाहर फेंकने की इस दो प्रक्रिया के कारण पीरियड्स की ब्लीडिंग होती है. ये जो दोनों प्रक्रियाएं हैं लाइनिंग का गर्भदानी से अलग होना और फिर उसका बाहर फेंका जाना, इन दोनों ही प्रक्रियाओं के दौरान गर्भदानी कॉन्ट्रैक्शन करती है, जिससे पीरियड्स का दर्द, क्रैम्प होता है.

पीरियड्स क्रैम्प से बचने के लिए क्या करें

पीरियड्स का दर्द पहले दिन अधिक होता है और जिन्हें ऐसा होता है, वे इस बारे में बखूबी जानती हैं. यदि बात करें किन्वेन झेंग के मामले की, तो उन्होंने खुद भी कहा है कि पीरियड्स के पहले दिन उन्हें अधिक दर्द होता है. ऐसे में पीरियड्स में अधिक दर्द होने की समस्या से वे अक्सर जूझती होंगी. तो फिर किसी भी महत्वपूर्ण काम जैसे मैच खेलने से पहले कुछ ज़रूरी एहतियाती उपाय अपनाने चाहिए थे, ताकि खेलते समय उन्हें इतनी समस्या ना होती और वे मैच जीत जातीं.

ऐसे में किसी भी महत्वपूर्ण कार्य को करने जाना ही है, जिसे किसी भी हाल में छोड़ा नहीं जा सकता है, तो उसके लिए दो उपाय अपनाएं जा सकते हैं. पहला, शॉर्ट टर्म सॉल्यूशन, जिसमें आपको तुरंत दर्द से छुटकारा मिल सकता है और दूसरा है लॉन्ग टर्म मेथड. शॉर्ट टर्म सॉल्यूशन में डॉक्टर से बात करके कोई भी दर्द निवारक दवा ले सकते हैं, ताकि कुछ देर के लिए दर्द से राहत मिल जाए. कभी-कभी पेनकिलर लेने में कोई नुकसान नहीं होता है. लेकिन, दवा खाने से पहले कुछ नेचुरल उपायों को अपनाना चाहिए, फिर भी आराम ना मिले तो ही दवा लें. दर्द से तुरंत आराम पाने के लिए आप हॉट वाटर बैग से सिकाई कर सकते हैं. खुद को हाइड्रेटेड रखें. पीरियड्स के दौरान यह बहुत ज़रूरी है. अक्सर कुछ लड़कियां पीरियड्स के दौरान स्कूल में टॉयलेट जाना पसंद नहीं करती हैं और इस कारण से पानी कम पीती हैं, जो सही आदत नहीं हैं. खुद को हाइड्रेटेड आप जितना रखेंगे, उतना ही क्रैम्प, दर्द कम हो सकता है. यदि आप रेगुलर कोई एक्सरसाइज करें, स्पोर्ट्स खेलें, तो भी क्रैम्प की समस्या काफी हद तक कंट्रोल में आ सकती है.

इसे भी पढ़ें: पीरियड्स में वर्कआउट के दौरान इन 5 बातों का रखें ध्यान

क्या पीरियड्स डेट्स को आगे बढ़ा सकते हैं

आप पीरियड्स डेट्स को आगे बढ़ा सकते हैं, लेकिन ऐसा बार-बार करना सुरक्षित नहीं है. ये चीज लाइफ में एक बार ही की जानी चाहिए या फिर एमरजेंसी की स्थिति में. किसी की शादी हो, वर्ल्ड लेवल का कोई गेम हो जैसे फ्रेंच ओपेन, उस दौरान डेट्स आ जाए, तो आप इसे आगे बढ़ाने का सोच सकते हैं वरना रेगुलर दर्द निवारक दवा लेकर आप आराम पा सकते हैं. कोई भी डॉक्टर ऐसा करने की सलाह नहीं देता है, क्योंकि ये सेफ नहीं होता. इसके लिए हॉर्मोनल दवाई दी जाती है, जिससे पीरियड्स डेट आगे बढ़ जाता है. हालांकि, बॉडी साइकिल के लिए यह तरीका बिल्कुल भी सही नहीं है. लंबे समय तक हॉर्मोनल दवाओं का सेवन करना, बॉडी रिदम को बिगाड़ने से फर्टिलिटी प्रभावित हो सकती है. पीरियड्स इर्रेगुलर हो सकते हैं, लिवर को नुकसान हो सकता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top