स्वास्थ्य

खुलकर हंसने से सेहत रहेगी दुरुस्त, जानिए क्या है लाफ्टर थेरेपी और मेडिटेशन

खुलकर हंसने से सेहत रहेगी दुरुस्त, जानिए क्या है लाफ्टर थेरेपी और मेडिटेशन


Know The Health Benefits of Laughter : वैसे तो खुश रहना अपने आप में कई बीमारियों को दूर रखने का सबसे आसान और कारगर उपाय है. लेकिन आजकल की भागदौड़ भरी लाइफ में अपने करियर और फैमिली की जिम्मेदारियों, वर्कलोड, बढ़ती दूरियां और अकेलेपन की वजह से जिंदगी से हंसी मानों गायब सी हो गई है. जबकि दुनिया की कई रिसर्च में ये बात निकलकर आई है कि खुलकर हंसना (Laughing) एक तरह का इलाज है. जो प्रभावी और वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित भी है. दैनिक हिंदुस्तान में छपी न्यूज रिपोर्ट में हंसी से हेल्थ को होने वाले फायदे के बारे में विस्तार से बताया गया है. इस रिपोर्ट में लिखा है कि ब्रिटेन की वारवरिक यूनिवर्सिटी (University of Warwick) की स्टडी के मुताबिक मुस्कुराने यानी स्माइल करने की बजाय खुलकर हंसने यानी जोर से ठहाका लगाकर हंसना हेल्थ के लिए ज्यादा फायदेमंद है. क्योंकि खुलकर हंसने से धमनिया यानी आर्टरी फैलती है, जिससे बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है. इतनी ही नहीं हंसना हमारे शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मददगार है और इससे शरीर में एंटीबॉडीज भी मजबूत होती है.

हंसना केवल शारीरिक और मानसिक ही नहीं भावनात्मक रूप से भी आपको हेल्दी रखता है. जब हम हंसते हैं तो हमारे ब्रेन में और कोई विचार नहीं आता है. खुलकर हंसने से शरीर में एनर्जी का लेवल बढ़ जाता है और तनाव और दर्द कम हो जाता है. यही कारण है हंसी को इलाज के एक विकल्प के रूप में भी कई अस्पतालों में इस्तेमाल किया जा रहा है

लाफ्टर थेरेपी के फायदे
-हंसते वक्त फेफड़े में ऑक्सीजन का इनटेक बढ़ने से फेफड़े बेहतर तरीके से काम करते हैं.
– मसल्स रिलैक्स होती हैं.
-इम्यून सिस्टम और ब्लड सर्कुलेटरी सिस्टम मजबूत बनते हैं
-एडोरफिन (खुशी का अहसास कराने वाला हार्मोन) का स्राव तेज होता है. ये नेचुरल पेनकिलर माना जाता है.
-हार्ट और ब्रेन की फंक्शनिंग बेहतर होती है.
– ब्लड प्रेशर बैलेंस रहता है
– दर्द को सहने की क्षमता बढ़ती है
-तनाव कम होता है नींद अच्छी आती है.
– लाइफ को देखने का नजरिया पॉजिटिव होता है, उसकी गुणवत्ता में सुधार आता है.
-सोशल रिलेशंस मजबूत होते हैं और हम लाइफ में बैलेंस लाने की सही कोशिश करते हैं

यह भी पढ़ें-
महिलाओं की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है अशोक के पेड़ की छाल, जानें कैसे करें इस्तेमाल

लाइफ्टर मेडिटेशन
लाफ्टर मेडिटेशन (Laughter Meditation) शरीर की विभिन्न गतिविधियों में तालमेल को बेहतर बनाकर मानसिक एकाग्रता बढ़ता है. हेल्दी और खुश रहने के लिए जरूरी है कि हमारे भावनााएं सही दिशा में चैनेलाइज हों. लाफ्टर मेडिटेशन से हम केवल अपने अंदर की खुशी को ही बाहर नहीं निकालते बल्कि दुख, गुस्सा और डर जैसी भावनाएं भी बाहर आने के लिए उमड़ती हैं, लेकिन इन भावनाओं को बाहर निकालने के लिए लाफ्टर मेडिटेशन के बाद कुछ देर शांत और खामोश रहना होगा. इससे अपने विचारों और भावनाओं को भी समझने में मदद मिलती है.

कैसे करें लाफ्टर मेडिटेशन
न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, लाफटर मेडिटेशन (Laughter Meditation) करने की कुछ टेकनीक बताई गई है. इसके मुताबिक आप इसे बैठकर या खड़े होकर भी कर सकते हैं. इसके लिए 10 से 15 मिनट का टाइम पर्याप्त है. अब इसके आपको करना है कि दिल खोलकर हंसना है, और अपना ध्यान हंसी पर केंद्रित करना है. ध्यान रहे कि इस मेडिटेशन की शुरुआत तो जोर से हंसी के साथ होती है लेकिन अंत खामोशी के साथ करना होता है. लाफ्टर मेडिटेशन करते समय आप शुरुआत के 10 मिनट खुलकर हंसे और उस हंसी में पूरी तरह रम जाएं. बाद के पांच मिनट बिलकुल खामोशी से स्थिर होकर बैठ जाएं और इस खामोशी को फील करें. अगर आप से रेगुलर करते हैं तो आपको असाधारण अनुभव (extraordinary experience) होंगे.

यह भी पढ़ें-
Eye Care Tips: आंखों पर खीरा रखने से डार्क सर्कल्स ही नहीं हटते, मिलते हैं ये भी फायदे

घर पर कैसे उठाए लाफ्टर थेरेपी की फायदे
आप हंसने के लिए किसी लाफ्टर क्लब के मेंबर भी बन सकते हैं. लेकिन अगर आप बिना कहीं बाहर जाए ही लाफ्टर थेरेपी (Laughter Therapy) का फायदा उठाने चाहते हैं तो आपको बस हंसने के बहाने ढूंढने होंगे. जैसे-
– टीवी पर कोई कॉमेडी शो या कॉमेडी मूवी देखें
-हंसमुख लोगों से मिलें
-बच्चों के साथ समय बिताएं और मजेदार एक्टिविटी में भाग लें
-घर पर अगर कई पालतू जानवर है तो उसके साथ खेलें
-जोक्स पढ़ें, सुनें और दूसरों को भी सुनाएं

Tags: Health, Health News, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top