स्वास्थ्य

कोरोना के बाद बुजुर्गों में दिख रहे हैं घबराहट के लक्षण- स्टडी

कोरोना के बाद बुजुर्गों में दिख रहे हैं घबराहट के लक्षण- स्टडी


Signs Of Anxiety in Older Patients : पिछले दो सालों से पूरी दुनिया को प्रभावित करने वाले कोरोना वायरस ने हर उम्र के लोगों को प्रभावित किया है, खासकर कोरोना की दूसरी लहर ने तो कुछ ज्यादा ही परेशानी बढ़ा दी. दूसरी लहर के दौरान ही इस संक्रमण ने लोगों को डायबिटीज और लिवर से संबंधित बीमारी तक दी. इस दौरान बुजुर्गों को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, जिस पर एम्स ने स्टडी की है. दैनिक भास्कर अखबार में छपी न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, इस स्टडी में मरीजों की मेंटल हेल्थ पर पड़े इफैक्ट्स को जाना गया. इस स्टडी में समाने आया कि बुजुर्गों को कोरोना की वजह से डिप्रेशन (Depression) से ज्यादा घबराहट (Anxiety) हो रही है. इस स्टडी में 60 साल से ज्यादा उम्र के 106 ऐसे बुजुर्गों को शामिल किया गया है, जिनका इलाज एम्स में चल रहा था. इनमें 58 पुरुष और 48 महिलाएं शामिल थी. इन 106 बुजुर्गों में से 103 की उम्र 79 साल के बीच जबकि बाकी 3 की उम्र 80 साल से ज्यादा थी. इन पर की गई स्टडी में यह पाया गया है कि 18.87% यानी 20 बुजुर्गों में डिप्रेशन के लक्षण पाए गए थे, जबकि 2 में मध्यम लक्षण थे.

वहीं दूसरी तरफ 24 बुजुर्गों यानी 22.6% में घबराहट (anxiety) के लक्षण देखे गए है. इनमें से 20 में घबराहट के हल्के लक्षण थे और 4 मरीजों में मध्यम किस्म के लक्षण देखे गए हे. स्टडी में शामिल बुजुर्गों में से 92.45% ऐसे थे, जिनकी देखभाल उनके घरवाले ही कर रहे थे और 1.88% बुजुर्ग वृद्धाश्रम (old age home) में रहते थे. इनमें से 82.08% बुजुर्ग शहरी इलाकों (urban areas) में और 17.92% बुजुर्ग ग्रामीण इलाकों में रहने वाले थे.

यूके और हॉन्ग कॉन्ग में भी हुई थी ऐसी स्टडी
एम्स के जीरियाट्रिक मेडिसिन विभाग (Department of Geriatric Medicine) के असिस्टेंंट प्रोफेसर डॉ. विजय गुर्जर (Dr. Vijay Gurjar) ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से बुजुर्गों की मेंटल हेल्थ पर क्या असर पड़ा है, यह जानने के लिए स्टडी की गई है. यह देश की पहली स्टडी है, जिसमें बुजुर्गों की मेंटल हेल्थ पर पड़े प्रभाव को उजागर किया गया है.

यह भी पढ़ें-
एंटीबायोटिक्स से अपेन्डिसाइटिस का इलाज संभव, ज्यादातर मरीजों को नहीं पड़ेगी सर्जरी की जरूरत- स्टडी

यूके में भी इस तरह की स्टडी की गई थी, जिसमें यह सामने आया था कि 9.2 प्रतिशत बुजुर्गों में डिप्रेशन के और 15.3 प्रतिशत घबराहट के लक्षण देखने को मिले है. इसी तरह हांग कांग में 27.69 प्रतिशत बुजुर्गों में डिप्रेशन और 27.3 प्रतिशत में एंग्जाइटी के लक्षण देखे गए है. इससे पता चलता है कि कोरोना वायरस ने हमारे बुजुर्गों की मेंटल हेल्थ को काफी प्रभावित किया है. खासकर उनमें डिप्रेशन और एंग्जायटी बढ़ रही है.

यह भी पढ़ें-
Amaltas Benefits For Health: अमलतास के फूल तो मन को भाते होंगे पर क्या जानते हैं इस पेड़ के फायदे

डॉ. विजय का कहना है कि इस वक्त जरुरत है कि हम बुजुर्गों की मेंटल हेल्थ पर ध्यान दें और उन्हें अच्छा ट्रीटमेंट उपलब्ध करवाएं.

Tags: Coronavirus, Health, Health News



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top