स्वास्थ्य

उंगलियों की बड़ी समस्या बन सकता है फिंगरनेल दर्द, जानें इसकी वजह और बचाव के तरीके

उंगलियों की बड़ी समस्या बन सकता है फिंगरनेल दर्द, जानें इसकी वजह और बचाव के तरीके


हाइलाइट्स

फिंगरनेल दर्द कई कारणों से हो सकता है.
इसमें दर्द के अलावा सूजन भी हो सकती है.
दर्द का सही उपचार जरूरी है अन्‍यथा समस्‍या बढ़ सकती है.

How To Treat Fingernail Pain: फिंगरनेल यानी उंगलियों के नाखूनों में दर्द का अनुभव तब होता है जब उसमें चोट लग जाए या दब जाए. लेकिन कई बार नाखूनों में दर्द किसी समस्‍या का संकेत भी हो सकता है. नाखून सिर्फ उंगलियों की रक्षा ही नहीं करते बल्कि ओवरऑल बॉडी की स्थिति भी बता सकते हैं. नाखून केराटिन नामक पदार्थ से बने होते हैं जो नेलबैड से क्‍यूटिकल तक बढ़ता है. हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स नाखून के विकास में बाधा उत्‍पन्‍न कर सकती हैं जो एब्‍नॉर्मल नेल एपीयरेंस का कारण बनती हैं. नाखूनों का विकास काफी धीमा होता है, एक महीने में ये बस कुछ मिलीमीटर ही बढ़ते हैं.

रोगग्रस्‍त नाखूनों को बदलने में लगभग 6 महीने तक का समय लग सकता है. ज्‍यादातर फिंगरनेल दर्द किसी गंभीर हेल्‍थ प्रॉब्‍लम से जुड़ा नहीं होता जो सही उपचार से ठीक हो सकता है. चलिए जानते हैं फिंगरनेल दर्द के कारणों के बारे में.

ये भी पढ़ें: 22 दिसंबर क्यों है साल का सबसे छोटा दिन, जानें इसके पीछे क्या कारण है और क्या कहता है साइंस?

क्‍या हैं फिंगरनेल दर्द के कारण
हेल्‍थलाइन डॉट कॉम के अनुसार हेल्‍दी नाखून चमकदार और गुलाबी होते हैं और उनमें किसी प्रकार का दर्द नहीं होता. कई मामलों में नाखूनों का दर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है जबकि अन्‍य को उपचार की आवश्‍यकता होती है. दर्द के कई कारण हो सकते हैं.

नेल इंफेक्‍शन
फिंगरनेल दर्द का सामान्‍य कारण नेल इंफेक्‍शन हो सकता है. दर्द के अलावा, नाखून में सूजन और लालिमा हो सकती है. नेल इंफेक्‍शन के कारण नाखून मोटा हो जाता है और उसके आसपास मवाद भी निकल सकता है.

फंगल नेल इंफेक्‍शन
जब कोई फंगस नाखून पर, नीचे या चोट के आसपास प्रवेश करता है तो एक फंगल नेल इंफेक्‍शन उत्‍पन्‍न हो सकता है. ज्‍यादातर मामलों में फंगल नेल इंफेक्‍शन उसी फंगस के कारण होता है जो एथलीट फुट का कारण भी होता है. दर्द के अलावा फंगस नाखूनों को पीला या सफेद बना सकता है.

इनग्रोन नेल्‍स
ये स्थिति नाखूनों के पैने किनारे जो स्किन में घुसने के कारण बन सकती है. ये काफी दर्दनाक स्थिति होती है. ऐसा तब होता है जब नाखूनों को गलत तरीके से काटा जाए.

हैंगनेल
हैंगनेल वास्‍तव में नाखून नहीं होत हैं बल्कि स्किन के टुकड़े होते हैं जो नाखून के किनारे को फाड़ देते हैं. ये स्थिति काफी कष्‍टकारी हो सकती है. कई बार इसमें खून भी आ जाता है.

ये भी पढ़ें: सर्दियों में होने वाली टॉन्सिल्स की समस्या को न करें इग्नोर, कैंसर की भी वजह बन सकता है ये

कैसे करें इसे ट्रीट
– फिंगरनेट दर्द से राहत पाने के लिए उंगलियों को कुछ देर के लिए गर्म पानी में डुबोकर रखें. इससे दर्द और सूजन कम हो सकती है.
– नेल इंफेक्‍शन को कम करने के लिए उसमें क्रीम या जेल लगाएं. इसके साथ ही एंटी-बायोटिक का भी उपयोग कर सकते हैं.
– नाखूनों की सफाई के लिए नींबू और नमक का प्रयोग कर सकते हैं.
– नाखूनों में दर्द होने पर ऑयल से मसाज करें आराम मिलेगा.
फिंगरनेल दर्द कई बार दर्दनाक हो सकता है. इसलिए नजरअंदाज न करें और सही ट्रीटमेंट लें. अधिक समस्‍या होने पर चिकित्‍सक से संपर्क करें.

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top