स्वास्थ्य

आयरन की कमी से हो सकती है हैवी पीरियड्स की वजह, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

आयरन की कमी से हो सकती है हैवी पीरियड्स की वजह, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज


हाइलाइट्स

हार्ट को प्रॉपर ब्‍लड न मिल पाने के कारण हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ सकता है.
आयरन की कमी से कई महिलाओं को हैवी पीरियड्स की समस्‍या हो सकती है.

Symptoms Of Iron Deficiency: शरीर को हेल्‍दी और एनर्जेटिक बनाए रखने में आयरन की अहम भूमिका होती है. वैसे तो आयरन सबके लिए जरूरी होता है, लेकिन पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को इसकी अधिक आवश्‍यकता होती है. शरीर में आयरन की कमी के चलते कई बीमारियां हो सकती हैं. खासकर महिलाओं को हर महीने हैवी पीरियड्स का सामना करना पड़ सकता है. आयरन की कमी से ए‍नीमिया हो सकता है, जो कमजोरी और थकान का कारण बन सकता है. आयरन की कमी से होने वाली समस्‍याओं को महिलाएं अक्‍सर नजरअंदाज करती आई हैं. य‍ही वजह है कि कुछ महिलाओं को मेनोपॉज के दौरान हार्ट प्रॉब्‍लम और ब्‍लड से संबंधित समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है. चलिए जानते हैं आयरन की कमी से हैवी पीरियड्स के अलावा और क्‍या समस्‍याएं हो सकती हैं.

हैवी पीरियड्स
शरीर में आयरन की कमी होना कई समस्‍यों को बढ़ावा दे सकता है. हेल्‍थ डॉट कॉम के अनुसार आयरन की कमी से सबसे ज्‍यादा प्रभाव पीरियड्स पर पड़ता है. शरीर में आयरन की कमी के कारण महिलाओं को हैवी पीरियड्स की समस्‍या हो सकती है. महिला स्‍वास्‍थ्‍य कार्यालय के अनुसार एक सामान्‍य महिला को हर महीने पीरियड्स के दौरान 2-3 बड़ा चम्‍मच ब्‍लड फ्लो होता है. हैवी ब्‍लड फ्लो का मतलब है कि एक महिला पैड या टैम्‍पोन हर एक से दो घंटे में बदलती है. हैवी पीरियड्स 8 दिनों से अधिक चल सकते हैं.



शरीर का पीला होना
शरीर में कम रेड ब्‍लड सेल्‍स होने पर एनीमिया की समस्‍या हो सकती है, जिस वजह से शरीर पीला दिखाई दे सकता है. ये पीलापन, स्किन, होठों, मसूड़ों और आंखों में दिखाई दे सकता है. यदि स्किन सामान्‍य से कम लाल हैं, तो कम आयरन इसका कारण हो सकता है. 45 से 50 प्रतिशत मामलों में पीलापन आयरन की कमी के कारण हो सकता है.

ये भी पढ़ें: लंबी उम्र तक यंग दिखने के लिए ये हैं कारगर ट्रिक्‍स, डॉक्‍टरों ने बताया तरीका

सांस की तकलीफ
आयरन की कमी से महिलाओं को सांस लेने में तकलीफ भी महसूस हो सकती है. शरीर में ऑक्‍सीजन की कमी से सांस लेने में दिक्‍कत आ सकती है. खासकर दौड़ते हुए या सीढि़यां चढ़ते वक्‍त ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें: अपने ब्लेडर को हेल्दी बनाए रखने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

हार्ट डिजीज का खतरा
अनियमित हार्ट बीट, हार्ट का कमजोर होना या हार्ट फेलियर के लिए भी आयरन को जिम्‍मेदार माना जा सकता है. आयरन की कमी से हार्ट को प्रॉपर ब्‍लड फ्लो और ऑक्‍सीजन नहीं मिल पाता जिस वजह से हार्ट डिजीज होने का खतरा बढ़ जाता है. अधिकतर महिलाओं में आयरन की कमी होती है जिस वजह से उन्‍हें कई समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है. आयरन की कमी होने पर प्रॉपर डाइट के साथ ट्रीटमेंट करना जरूरी है.

Tags: Blood, Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top