स्वास्थ्य

आंख और गले के लिए घातक है एलर्जिक राइनाइटिस, जानें इससे बचने के लिए बेस्ट योगासन

आंख और गले के लिए घातक है एलर्जिक राइनाइटिस, जानें इससे बचने के लिए बेस्ट योगासन


हाइलाइट्स

नाक बहना और आंखों में जलन एलर्जी के लक्षण हो सकते हैं.
त्रिकोणासन से चेस्ट मजबूत होती है और एलर्जी से राहत मिल सकती है.
बॉडी को बैलेंस्ड बनाने वाला वृक्षासन एलर्जी से बचने में मदद करता है.

4 Yogasana to prevent Allergic Rhinitis : पॉल्यूशन और धूल मिट्टी के संपर्क में आने से बॉडी पर तरह-तरह के बुरे प्रभाव पड़ते हैं, एलर्जिक राइनाइटिस भी इन्हीं में से एक है. धूल, मिट्टी, हवा, नमी, पोलेन ग्रेन जैसे किसी भी बाहरी पदार्थ (एलर्जन) के कारण नाक में इंफ्लेमेशन और सेंस्टिविटी हो सकती है, जिसे एलर्जिक राइनाइटिस या एलर्जी कहते हैं. नाक बॉडी का सबसे सेंसटिव पार्ट है और एलर्जन के संपर्क में आने पर बॉडी का रिस्पॉन्स मैकेनिज्म भी नाक को ही प्रभावित करता है.

अनहेल्दी डाइट, स्ट्रैस और दूसरे लाइफस्टाइल प्रॉब्लम्स के चलते भी एलर्जिक राइनाइटिस की परेशानी बढ़ सकती है. बच्चे हों या बूढ़े ये समस्या हर आयु वर्ग पर समान रुप से असर दिखाती है. नाक बहना, आंखों में पानी आना, सूजन, छींक आना, खांसी, गले में खराश, आंखों के नीचे काले घेरे, सिरदर्द, त्वचा पर छाले और थकान जैसे लक्षणों से एलर्जिक राइनाइटिस की पहचान की जा सकती है. आइए जानते हैं एलर्जिक राइनाइटिस के ट्रीटमेंट के लिए क्या उपाय अपनाए जा सकते हैं:

स्टाइल क्रेज डॉट कॉम के अनुसार अक्सर एलर्जी के लिए लोग दवाइयों का सेवन करते हैं, लेकिन ये इसका टेंपरेरी उपचार है. योगा से हर समस्या का समाधान संभव है और एलर्जिक राइनाइटिस को जड़ से खत्म करने के लिए योग एक बेहतरीन उपाय की तरह नजर आता है. 

ये भी पढ़ें: हफ्तेभर की थकान को मिनटों में करें दूर, अपनाएं ये आसान होम रेमेडी

पवनमुक्तासन :
ब्लड सर्कुलेशन और नर्वस सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए हर रोज खाली पेट 10-60 सेकेंड तक ये आसन कर सकते हैं. पवनमुक्तासन बॉडी से हानिकारक टॉक्सिंस को निकालने में मदद करता है जिससे एलर्जी की समस्या से राहत मिलती है.

वृक्षासन :
हर रोज खाली पेट एक एक मिनट के लिए ये आसन करना बॉडी को बैलेंस्ड बनाता है. वृक्षासन करने से बॉडी स्ट्रैच होती है और नर्वस सिस्टम में स्थिरता आती है. एकाग्रता और आत्मविश्वास बढ़ाने वाला वृक्षासन एलर्जी से भी बचाता है.

त्रिकोणासन :
स्ट्रेस मैनेज करना एलर्जिक राइनाइटिस से बचने में मदद कर सकता है. हर रोज खाली पेट 30 सेकेंड के लिए त्रिकोणासन करने से मानसिक और शारीरिक स्थिति में सुधार आता है जो एलर्जी से सुरक्षा प्रदान करता है.

ये भी पढ़ें: क्या होता है शिन स्प्लिंट्स? रनर्स को क्यों होती है इससे दिक्कत, जानिए इसके कारण और निदान

अर्ध चंद्रासन :
चेस्ट और कंधों को मजबूती देने वाला ये आसन स्ट्रेस मैनेज करने में भी मदद करता है. एलर्जिक राइनाइटिस से बचने के लिए हर रोज 15-30 सेकेंड अर्ध चंद्रासन का अभ्यास करें.

Tags: Health, Lifestyle



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top