मनोरंजन

pankaj tripathi said there was no match in the house to light the stov | जब पंकज त्रिपाठी ने कहा, घर में माचिस तक नहीं होती थी चूल्हा जलाने के लिए

open-button


पंकज त्रिपाठी ने अपनी लाइफ में बहुत संघर्ष किया है। आज उनके पास जो कुछ भी है उसी संघर्ष के बदौलत है।

नई दिल्ली

Published: April 15, 2022 03:59:03 pm

पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) आज फिल्म इंडस्ट्री एक बड़ा नाम। एक्टर फिल्म में अपनी धाकड़ एक्टिंग के लिए जाने जाते हैं। वो एक शानदार एक्टर हैं। अपनी एक्टिंग से वो फिल्मों में जान डाल देते हैं। अब उनकी गिनती बॉलीवुड के बड़े एक्टर्स में की जाती है। लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते हैं कि एक्टर ने शुरूआती के दिनों में काफी स्ट्रगल किया है। उन्हें काम आसानी से नहीं मिला। उन्होंने मेहनत के दाम पर सफलता हासिल की है। एक समय ऐसा था जब एक्टर के पास काम की कमी थी। अब समय ऐसा आ गया है कि उनके पास काम लेकर कोई कमी नहीं है।

pankaj-tripathi

बताते चले कि पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) एक मध्यम वर्गीय परिवार से आते हैं एक्टर का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। एक बार जब पंकज त्रिपाठी हिंदी सिनेमा के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन के क्वीज शो कौन बनेगा करोड़पति में पहुंचे थे तो उन्होंने बताया था कि उनका इलाका कितना पिछड़ा हुआ है। उनका दर्द उनकी बातों में साफ झलक रहा था। जिसे देखकर लोगों के आंसू नहीं थम पाए साथ ही हैरानी भी हुई।

दरअसल, पंकज त्रिपाठी जब केबीसी में पहुंचे तो उन्होंने बिग बी से बात करते हुए कहा कि- 90 के दशक में उनका इलाका इतना पिछड़ा हुआ था कि आग जलाने के लिए किसी के घर में माचिस तक नहीं होती थी। आग लगाने के लिए यानी शाम को चूल्हा जलाने के लिए किसी के दरवाजे पर घूर लगा होता था जो आग लाकर दे दिए तो चूल्हा जलता था। पंकज त्रिपाठी अपने घर से 8 किलोमीटर दूर स्थित रेलवे स्टेशन का जिक्र करते हुए कहते हैं कि 8 बजे एक मेल ट्रेन आती थी। जिसका हॉर्न नहीं बल्कि इंजन का साउंड इतना साफ सुनाई देता था कि लोग कहते थे 8 बजे वाली ट्रेन आ गई चलो सोने।

यह भी पढ़ें

लगान जैसी बड़ी फिल्म देने वाले डायरेक्टर 21 साल बाद लेकर आएंगे ऐसी फिल्म

newsletter

अगली खबर

right-arrow





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top