बिज़नेस

UN warn: The world has only 70 days of wheat left, all eyes on India | संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

open-button


रूस में इस साल शानदार हुई है गेहूं की फसल पश्चिमी देशों को लगता है कि रूस में इस साल शानदार हुई गेहूं की फसल को पुतिन नियंत्रित कर सकते हैं। वह यूक्रेन के खाद्यान्न पर कब्जा कर सकते हैं। दूसरी ओर खराब मौसम की वजह से यूरोप और अमरीका में गेहूं की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। गो इंटेलिजेंस की मुख्य कार्यकारी अधिकारी सारा मेनकर ने चेतावनी दी कि दुनिया खाद्यान्न को लेकर असाधारण चुनौतियों से जूझ रही है। इसके लिए फर्टिलाइजर की कमी, जलवायु परिवर्तन और खाद्यान्न तेल तथा अनाज का कम भंडार भी बड़ा कारण है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा कि बिना वैश्विक प्रयास के हम मानवीय त्रासदी को रोक नहीं पाएंगे। ऐसा संकट भू-राजनीतिक दौर को नाटकीय तरीके से बदल सकता है।

  • भारत पर टिकीं दुनिया की निगाहें… कोई हैरानी नहीं कि इस समय पूरी दुनिया उम्मीद भरी निगाहों से भारत की ओर देख रही है। हालांकि भारत ने घरेलू बाजार में कीमतों को नियंत्रण में रखने के लिए गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। बता दें, भारत दुनिया में गेहूं का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। भारत की ओर से गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का मामला आज से जापान में शुरू होने जा रही क्वॉड बैठक में उठ सकता है। अमरीकी राष्ट्रपति बाइडन पीएम नरेंद्र मोदी से निर्यात से प्रतिबंध हटाने का अनुरोध कर सकते हैं।





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top