बिज़नेस

Not only petrol and diesel, five things became cheaper, 22th may | सिर्फ पेट्रोल और डीजल ही नहीं, पांच चीजें हुईं सस्ती, केरल सरकार ने भी घटाया वैट, चेक करें आपके शहर में क्या हैं दाम

open-button


चलिए तो आपको बताते हैं कि ताजा कटौती के बाद किस राज्य में पेट्रोल और डीजल के दाम कितने हो गए हैं, और किस राज्य में कितने घटे हैं दाम। नीचे टेबल में 22 मई से लागू ताजा पेट्रोल और डीजल के दाम दिए गए हैं—

petrol_and_diesel_latest_price.jpgविपक्ष पर दाम कम करने का दबाव भले ही विपक्ष के नेता फिलहाल ये कह रहे हैं कि मोदी सरकार ने 10 रुपए पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाकर अगर उसके बाद 8-9 रुपए कम कर दिए हैं तो ये तो बस रेगिस्तान में झाड़ू लगाने जैसा है, लेकिन हकीकत में विपक्ष मोदी सरकार के इस कदम से दबाव में आ गया है और केरल सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम कम भी किए हैं।

केरल में 2.41 रुपए अतिरिक्त सस्ता हुआ पेट्रोल, डीजल में भी ज्यादा घटे दाम केंद्र की ओर से पेट्रोल-डीजल के दामों में कमी के बाद सबसे पहले केरल सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम घटाने का ऐलान किया है, बता दें, केरल उन विपक्ष की सरकारों में शामिल है जिसने जब केंद्र ने 4 नवंबर 2021 को पेट्रोल और डीजल के दाम कम किए थे तो नहीं घटाए थे। जिन अन्य विपक्षी राज्यों की सरकारों ने पिछली बार दाम नहीं घटाए थे उनमें केरल के साथ महाराष्‍ट्र, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु , आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और झारखंड शामिल थे। लेकिन इस बार केंद्र की ओर से दामों में कमी किए जाने के साथ ही केरल सरकार ने भी पेट्रोल की कीमत में 2.41 रुपये और डीजल में भी1.36 रुपये प्रति लीटर की कटौती का ऐलान तत्काल प्रभाव से किया है। दरअसल इन दिनों पूरे देश में जिस तरह से महंगाई के खिलाफ आक्रोश पनप रहा है उसमें अब कोई राज्य ये जोखिम नहीं लेना चाहेगा कि वे महंगाई से चिंतित नहीं हैं। अब राज्‍यों को साफ संदेश मिल गया है कि अब गेंद उनके पाले में है। अगर वो लोगों को कोई अतिरिक्‍त राहत नहीं देंगे तो महंगाई से लड़ने की सारी वाहवाही मोदी सरकार बटोर ले जाएगी।

Steel, Iron ore और Plastic पर भी घटाई ड्यूटी, उज्जवला सिलिंडर पर भा राहत गौर करने की बात ये भी है कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 21 मई को सिलिसिलेवार करीब 10-12 ट्वीट किए और इस दौरान सिर्फ पेट्रोल और डीजल के भाव ही कम नहीं किए गए बल्कि गैस सिलिंडर पर 200 रुपए की सब्सिडी की राहत देने के साथ ही प्लास्टिक, स्टील और सीमेंट के दाम कैसे कम हो सकें इस दिशा में सिलसिलेवार कदम उठाने की घोषणा की गई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा की गई घोषणा के अनुसार अब आयरन, स्टील और प्लास्टिक इंडस्ट्री में प्रयुक्त होने वाले महत्वपूर्ण कच्चे माल पर आयात ड्यूटी कम की गई है तथा आयरन आयस्क, पैलेट्स तथा विशिष्ट आयरन और स्टील उत्पादों पर एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी गई या लगा दी गई है।

Cement की उपलब्धता बढ़ाकर कम किए जाएंगे दाम

साथ ही एक घोषणा में ये कहा गया है कि सीमेंट की उपलब्धता बढ़ाने के लिए जरूरी कदम उठाए गए हैं, जिससे इसकी ट्रांसपोर्टेशन की लागत कम कर दामों पर काबू पाया जा सके। अब देखना ये होगा कि सरकार की इन घोषणाओं से महंगाई कब तक और कितनी काबू में आती है। अभी तक अनुभव यही रहा है कि एक बार किसी चीज के दाम उत्पादक द्वारा बढ़ा दिए जाने पर वह उन दामों को कम नहीं करते हैं या फिर नाम मात्र के लिए कम करते हैं।





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top