ऑटोमोबाइल

Made in India commercial plane Dornier 228 1st flight takes off | ‘Made In India’ कमर्शियल हवाई जहाज ने भरी पहली उड़ान, Alliance Air ने शुरू की सर्विस, जानें क्या है इसकी खासियत

open-button


इन दोनों विमानों को एलायंस एयर को सौंप दिया गया था, जिनमें से एक डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे पर स्थानांतरित कर दिया गया है। इन विमानों का इस्तेमाल पूर्वी अरुणाचल प्रदेश के इलाकों में हवाई संपर्क मुहैया कराने के लिए किया जाएगा। जिसमें चीन और म्यांमार सीमा के करीब के कुछ इलाके भी शामिल होंगे।

नई दिल्ली

Updated: April 12, 2022 07:39:34 pm

एलायंस एयर (Alliance Air) के मेड-इन-इंडिया डोर्नियर 228 विमान ने मंगलवार यानी आज अपनी पहली उड़ान भरी। इस हवाई जहाज को चुनिंदा घरेलू रूट पर सर्विस देने के लिए कंपनी ने फ्लीट का हिस्सा बनाया है। विमान की पहली उड़ान वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ सिंधिया और रिजिजू ने पड़ोसी राज्य अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट के लिए असम के डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे से भरी। एयरलाइन ने एक बयान में कहा कि असम के डिब्रूगढ़ और अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट के बीच इसकी पहली उड़ान पूर्वोत्तर राज्यों में कनेक्टिविटी को बढ़ावा देगी।

made_in_india_dorniew_plane-amp.jpg

Madi in India ‘Dornier Plane’

वहीं यह नागरिक संचालन के लिए मेड इन इंडिया भारत की पहली कमर्शियल एयरलाइन होगी। बताते चलें, कि डोर्नियर 228 विमानों का उपयोग अब तक केवल सशस्त्र बल ही करते हैं। डिब्रूगढ़ से पासीघाट व लीलाबाड़ी रूट पर 18 अप्रैल से इसकी नियमित उड़ान शुरू होंगी। वहीं हब स्टेशन के रूप में डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे के साथ विमान की सर्विस को अरुणाचल प्रदेश में तेजू, मेचुका, जीरो और टुटिंग तक बढ़ाया जाएगा।

ये भी पढें : नहीं थम रहा Electric Scooter में आग लगने का सिलसिला, एक बार फिर बना ओकिनावा का स्कूटर आग का गोला

एचएएल के अनुसार, इस बहुमुखी विमान में शॉर्ट टेक-ऑफ और लैंडिंग, Semi-Ready Runway से उतरने और टेक-ऑफ करने की क्षमता होती है। यह विमान सरकार की महत्वाकांक्षी क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस) के तहत उड़ान नामक क्षेत्र में तैनात किए जाएंगे। इन दोनों विमानों को पिछले गुरुवार को एलायंस एयर को सौंप दिया गया था, जिनमें से एक डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे पर स्थानांतरित कर दिया गया है। जैसा कि हमनें बताया कि इन विमानों का इस्तेमाल पूर्वी अरुणाचल प्रदेश के इलाकों में हवाई संपर्क मुहैया कराने के लिए किया जाएगा और इसमें चीन व म्यांमार सीमा के करीब के कुछ इलाके भी शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें : कार में बच्चों के साथ सफर करने से पहले जरूर खरीदें ये एक्सेसरीज, कीमत 1000 रुपये से भी कम

newsletter

अगली खबर

right-arrow





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top