ऑटोमोबाइल

India’s First EV Charging Station Powered By BioGas starts in Mumbai | First Bio-Gas EV Charging Station : शुरू हुआ देश का पहला बायोगैस से चलने वाला चार्जिंग स्टेशन, मिनटों में चार्ज होंगे इलेक्ट्रिक वाहन

open-button


देश का पहला BioGas Electric Charging Station

पहला बायोगैस से चलने वाला इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन शुरू करने के मौके पर ठाकरे ने एक ट्वीट में कहा, “आज केशवराव खड़े मार्ग पर बायोगैस द्वारा संचालित भारत के पहले ईवी चार्जिंग स्टेशन का उद्घाटन किया, जो घरेलू कचरे से 220 यूनिट ऊर्जा उत्पन्न करता है। अब यह स्ट्रीट लाइटों को बिजली देने के साथ-साथ यह इलेक्ट्रिक वाहनों को भी चार्ज करेगा।” ध्यान दें, कि नई सुविधा हाजी अली में विलिंगडन क्लब के पास स्थित है और एक समय में दो इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए फास्ट चार्जिंग का विकल्प प्रदान करती है। यह देश में अपनी तरह की पहली परियोजना है जो खाद्य अपशिष्ट (Waste Food) का उपयोग ऊर्जा में परिवर्तित करने के लिए करती है।

ये भी पढ़ें : Elon Musk को आई Taj Mahal की याद तो पेटीएम के विजय शर्मा ने पूछ लिया Tesla की डिलीवरी पर सवाल

सितंबर से अबतक 1.5 लाख किलोग्राम भोजन की खपत

बता दें, कि मिनाताई ठाकरे पार्क में बीते साल सितंबर 2021 में अपशिष्ट से ऊर्जा संयंत्र स्थापित किया गया था। तब से इसने बिजली पैदा करने के लिए अब तक 1.5 लाख किलोग्राम भोजन की खपत की है। कहा जाता है कि बायोगैस से चलने वाला ईवी चार्जिंग स्टेशन भारत में अपनी तरह का पहला चार्जिंग स्टेशन है, जहां एयरोकेयर क्लीन एनर्जी के सीईओ ने भी कथित तौर पर कुछ मीडिया आउटलेट्स को बताया कि कंपनी पूरे शहर में इसी तरह के चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने की सोच रही है। वहीं यह बायोगैस-संचालित चार्जिंग स्टेशन मुंबई के भीतर खुलने वाली दूसरी हरित ऊर्जा ईवी चार्जिंग सुविधा है।

हाल ही में विसाका इंडस्ट्रीज के ईवी चार्जिंग सॉल्यूशन ब्रांड एटीयूएम ने मलाड में शहर में सौर ऊर्जा से चलने वाला ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया है। ध्यान दें, कि इस संयंत्र का उद्घाटन पिछले साल सितंबर में पहले छोटे पैमाने और स्थानीय कचरे से ऊर्जा संयंत्र के रूप में किया गया था। यह संयंत्र प्रति दिन 2 मीट्रिक टन या 2,000 किलोग्राम गीला कचरे को परिवर्तित करता है। बता दें, कि संयंत्र हाजी अली सर्कल के पास केशवराव खड़े रोड पर 2,000 वर्ग फुट में फैले इस संयंत्र से प्रतिदिन 80 से 110 क्यूबिक मीटर गैस और प्रति मीट्रिक टन कचरे में 220 यूनिट बिजली पैदा हो सकती है।

ये भी पढ़ें : 2022 Mercedes C-Class Launched : खूबसूरत दिखने वाली मर्सिडीज की नई कार भारत में लॉन्च, 55 लाख रुपये है कीमत





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top