ऑटोमोबाइल

4,000 Lamborghini and Porsche cars sink down after Fire in cargo | समुद्र में डूब गईं करीब 4,000 Lamborghini और Porsche गाड़ियां, मिनटों में हुआ करोड़ों का नुकसान, जानें क्या है मामला

open-button


जिस समय यह जहाज समुद्र में डूबा, उस समय इसमें 4,000 लग्जरी कारों के अलावा बिजली के तार, प्लास्टिक और पेंट भी थे।

नई दिल्ली

Updated: March 03, 2022 10:10:01 am

वाहन उघोग में एक तरफ जहां COVID-19 के प्रभाव और सेमीकंडक्टर चिप की कमी के कारण कंपनियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं पश्चिमी यूरोप के अटलांटिक वाटर से एक अन्य बुरी खबर चर्चा में है, दरअसल, इस समुद्र में बड़े पैमाने में करीब 4,000 पोर्श, लेम्बोर्गिनिस, बेंटले और फॉक्सवैगन जैसी लक्जरी कारें डूब गई।

4000_cars_sink-amp.jpg

Cargo Ship

कैसे डूबी इतनी गाड़ियां
बताया जा रहा है, कि ‘फेलिसिटी ऐस’ नामक एक क्रागो मालवाहक जहाज समुद्र में डूब गया। इस जहाज में आग लगने के कारण यह हादसा हुआ। बता दें, यह घटना अज़ोरेस के तट से 253 मील दूर हुई, जो अटलांटिक महासागर में स्थित एक द्वीपसमूह है, और पुर्तगाल का क्षेत्र है। मालवाहक जहाज जर्मनी के एम्डेन से रोड आइलैंड में डेविसविले के लिए रवाना हुआ था।

4000 कारों के अलावा भी मौजूद था सामान

जहाज के रवाना होने के लगभग 6 दिनों बाद इसमें भीषण आग लग गई, जिससे इसे नुकसान हुआ और जहाज डूब गया। यहां शुक्र यह रहा कि समुद्र में जहाज के डूबने से पहले ‘फेलिसिटी ऐस’ के सभी 22 क्रू सदस्यों को सुरक्षित निकाल लिया गया। ‘फेलिसिटी ऐस’ 650 फीट लंबा मालवाहक जहाज था, जिसमें 30 लाख लीटर कच्चा तेल ले जाने की क्षमता थी। जिस समय यह समुद्र में डूबा, उस समय इसमें 4,000 लग्जरी कारों के अलावा बिजली के तार, प्लास्टिक और पेंट भी थे।

ये भी पढ़ें : Hero ने लॉन्च की किफायती इलेक्ट्रिक स्कूटर Eddy, नहीं होगी ड्राइविंग लाइसेंस (DL) और रजिस्ट्रेशन की जरूरत

कई सुपरकारों को भी हुआ नुकसान

रिपोर्ट के मुताबिक जहाज में लेम्बोर्गिनी हुराकैन, लेम्बोर्गिनी उरुस, बेंटले बेंटायगा, बेंटले कॉन्टिनेंटल जीटी, पोर्श 911, पोर्श केयेन और यहां तक कि ऑल-इलेक्ट्रिक ऑडी ई-ट्रॉन जीटी और पोर्श टेक्कन जैसी कुलीन स्पोर्ट्स कारें और अन्य सुपरकारें भी शामिल थी।

ये भी पढ़ें : Tata ने शुरू की इस धांसू हैचबैक कार की बुकिंग, DCA गियरबॉक्स के साथ इस महीने होगी लॉन्च

newsletter

अगली खबर

right-arrow





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top