धर्म-ज्योतिष

Shani will sit in this zodiac till 2025, play the role of Dandnayak | शनि 2025 तक इस राशि में रहेंगे विराजमान, निभाएंगे दंडनायक की भूमिका, रहें सतर्क

open-button


कुंभ राशि वालों पर शनि साढ़े साती की शुरुआत 24 जनवरी 2020 में हुई थी। 29 अप्रैल 2022 में शनि के राशि बदलते ही कुंभ राशि वालों पर शनि साढ़े साती का दूसरा चरण शुरू हो गया था। ये चरण सभी तीन चरणों में सबसे कष्टदायी माना जाता है। क्योंकि इस दौरान शनि साढ़े साती अपनी चरम सीमा पर होती है। इस चरण में व्यक्ति चारों तरफ से परेशानियों से घिर जाता है। किसी का कोई सहयोग प्राप्त नहीं हो पाता है।

लेकिन, अगर शनि आपकी कुंडली में मजबूत स्थिति में विराजमान होंगे तो ये चरण विशेष फलदायी भी साबित हो सकता है। ज्योतिष अनुसार ये जरूरी नहीं कि शनि की दशा का हमेशा बुरा प्रभाव ही पड़े। अगर कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत होगी तो शनि साढ़े साती और शनि ढैय्या के दौरान व्यक्ति विशेष लाभ कमाएगा। वहीं अगर शनि की स्थिति कमजोर होगी तो व्यक्ति को कई परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

कुंभ राशि वालों के लिए शनि अगले ढाई साल तक दंडनायक की भूमिका में रहेंगे। यानी इस दौरान वो इस राशि के लोगों के अच्छे बुरे कर्मों का हिसाब-किताब करेंगे। अगर शनि की बुरी दृष्टि से बचना चाहते हैं तो इस दौरान आपको गलत कार्यों से पूरी तरह दूर रहना होगा। किसी का दिल न दुखाएं। बड़े बुजुर्गों का सम्मान करें और असहाय लोगों की जितना हो सके सहायता करें। किसी की मदद करने से पीछे न हटें। शनि देव के मंत्रों का जाप करें। शनिवार के दिन शनि से संबंधित चीजों जैसे सरसों का तेल, तिल का तेल, काली उड़द दाल, काले कपड़े, लोहा, काले जूते इत्यादि चीजों का दान जरूर करें।

यह भी पढ़ें

Name Astrology: इन अक्षर के नाम वाली लड़कियों से शादी करते ही कुबेर जितने धनवान बन जाते हैं लड़के!





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top