धर्म-ज्योतिष

All 12 zodiac signs are effect of rahu ketu 12th April 2022 | राहु-केतु के परिवर्तन का सभी 12 राशियों पर असर, जानिये किसकी कैसे बदल जाएगी किस्मत?

open-button


Rahu Ketu Transit 2022: सभी 12 राशियों पर 12 अप्रैल 2022 से दोनों ग्रह दिखाने लगेंगे प्रभाव

भोपाल

Published: April 12, 2022 12:50:00 pm

Rahu Ketu Transit 2022: काल सर्प योग के साथ शुरु हुए वर्ष 2022 में राहु केतु के साथ शनि की भी भूमिका अत्यंत विशेष रहनी तय है। एक ओर जहां इस साल राहु केतु अन्य सभी ग्रहों को अपने मध्य में स्थित रखते हुए अपना बंधक गुरुवार, 27 जनवरी 2022 से बनाए हुए हैं। हां कुछ समय के लिए चंद्र द्वारा जरूर बाहर आ जाने से इनके बंधन से एक ग्रह बाहर हो जा रहा है। लेकिन अभी रविवार, 24 अप्रैल 2022 तक तो सभी ग्रह इनके बंदी बने ही हुए हैं। ऐसे में इस बार आज यानि मंगलवार, 12 अप्रैल 2022 के दिन राहु व केतु दोनों राशि परिवर्तन कर चुके हैं।

Rahu ketu Rashi Parivartan effects start from April 2022 / Rahu transits in Aries and Ketu transits in Libra

Rahu transits in Aries and Ketu transits in Libra from 12 April 2022

ज्योतिष के जानकार पंडित एके शुक्ला के अनुसार राहु और केतु द्वारा राशि परिवर्तन हमेशा ही एक साथ किया जाता हैं। वहीं ये दोनों ग्रह यानि राहु और केतु हमेशा ही वक्री चाल चलते हैं। यह एक राशि में करीब डेढ़ वर्ष रहने के साथ ही कुंडली में हमेशा एक दूसरे से सातवें भाव में रहते है। इस बार भी ये दोनों 18 माह बाद राशि परिवर्तन कर रहे है।

तो चलिए जानते हैं कि राहु केतु के इस परिवर्तन का मेष से लेकर मीन राशि तक क्या असर होगा और ये गोचर कब से प्रारंभ होगा।

> राहु और केतु का गोचर : ऐसे समझें
अपने मंगलवार, 12 अप्रैल 2022 के दिन गोचर के तहत जहां राहु वृषभ राशि से मेष राशि में प्रवेश करेगा, तो वहीं इसी दिन केतु वृश्चिक राशि से तुला राशि में गोचर कर जाएगा। इस दौरान राहु व केतु के गोचर का समय एक समान 10:36 AM रहेगा।

सभी 12 राशियों पर इसके असर:

मेष (Aries) राशि:

इस समय राहु आपके प्रथम यानि लग्न भाव में आ जाएगा। जिसके चलते आपको कहीं कहीं अपमान या अचानक किसी परेशानी से दो चार होना पड़ सकता है। इसके अतिरिक्त यह राहु रोग और दुःख देने वाला भी होने के साथ ही आपके जीवन के हर क्षेत्र में उथल-पुथल मचा देगा।

जबकि अपने परिवर्तन के साथ ही केतु आपकी राशि 7वें भाव यानि विवाह भाव में गोचर करेगा, यह आपको साझेदारी के कोई ऐसे कार्य को करने का दबाव बनाएगागा, जिसमें आपको धोखा होने की संभावना है। सेहत पर असर डालने के साथ ही यह पीठ और पैरों में दर्द भी पैदा करेगा।

2. वृषभ (Taurus) राशि:
इस समय राहु आपकी राशि के 12वें भाव यानि व्यय भाव में गोचर करेगा, जिसके चलते यह आपके खर्चों में तो वृद्धि करेगा ही साथ ही सेहत पर भी बुरा प्रभाव डालेगा।

इसके दूसरी तरफ इस समय केतु आपकी राशि के 6ठे भाव यानि रोग व शत्रु भाव में गोचर करेगा । जो आपको शत्रुओं पर विजयी दिलाने के साथ ही कार्यों में भी सफलता दिलाएगा। इस समय यह आपको किसी पुराने रोग से छुटकारा दिलाने के साथ ही कॅरियर में सफलता के योग बनते दिखेगा। लेकिन ध्यान रहे कि इस समय आपको घटना-दुर्घटना से बचना होगा।

3. मिथुन (Gemini) राशि:
इस समय राहु आपकी राशि के 11वें भाव यानि आय भाव में गोचर करेगा, जो आपके लिए अचानक से धन की प्राप्ति के योग बनाएगा। इस समय नौकरीपेशा लोगों के वेतन में वृद्धि के साथ ही व्यापारियो को भी मुनाफा होगा। आय के साधन बढ़ाने के साथ ही राहु का गोचर आपके लिए शुभ साबित होगा।

इधर, केतु इस दौरान आपकी राशि के पांचवें भाव यानि पुत्र व बुद्धि के भाव में गोचर करेगा और आपके रिश्तों में नकारात्मक असर डालेगा। छात्रों के लिए भी यह गोचर उचित न होने के साथ ही कॅरियर में भी नुकसान पहुंचा सकता है। लेकिन यह गोचर शोधार्थियों के लिए शुभ रहता दिख रहा है। इस समय आपको पाचन तंत्र से जुड़ी समस्या के अतिरिक्त किसी प्रकार की एलर्जी हो सकती है।

4. कर्क (Cancer) राशि:
इस समय राहु आपकी राशि के 10वें भाव यानि कर्म भाव में प्रवेश करेगा। जिससे सुख-सुविधाओं में विस्तार के साथ ही आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। साथ इस समय व्यापारियों का भी मुनाफा बढ़ेगा। लेकिन ध्यान रहे कि इस समय नौकरी पेशा जातको को कार्यस्थल पर आपको अपने दुश्मनों से सतर्क रहना होगा।

इधर केतु इस समय आपकी राशि के चतुर्थ भाव यानि माता व सुख के भाव में गोचर करेगा। केतु का यह गोचर घर का माहौल खराब करने के अलावा छात्रों के अनुकूल न होने के साथ ही कॅरियर में भी नुकसान दे सकता है। ध्यान रहे इस दौरान कहीं पर भी निवेश करने से बचें या सोच समझने के पश्चात जानकारों से सलाह के पश्चात ही निवेश करें। सेहत का इस समय विशेष ध्यान रखना होगा।

5. सिंह (Leo) राशि:
इस समय राहु आपके नौवें भाव यानि भाग्य भाव में रहेगा। राहु का ये गोचर परिवार में मतभेद उत्पन्न करने के अलावा यात्राओं पर भी आपका अधिक खर्च कराएगा। इस समय भाग्य का साथ नहीं मिलने के कारण नौकरी और व्यापार में चुनौतियों के बीच अधिक संघर्ष करना पड़ सकता है।

इधर केतु इस समय आपकी राशि के तीसरे भाव यानि परक्रम भाव में गोचर करेगा। जिसके चलते आपकी कुछ समस्याओं का समाधान होगा। इस समय आप आप अपने लक्ष्य की पूर्ति कर पाएंगे। साथ ही इस समय परिवार का माहौल अच्छा रहने के साथ ही कार्यस्थल पर भी आपकी उन्नति होगी।

6. कन्या (Virgo) राशि:
इस समय राहु आपके आठवें भाव यानि आयु भाव में गोचर करेगा। जिसके चलते इस दौरान आपकी गूढ़ रहस्यों के प्रति रुचि बढ़ सकती है। इस समयावधि में व्यापार और नौकरी में कठिन परिश्रम क साथ ही सेहत का भी ध्यान रखना होगा।

जबकि इस समय केतु आपकी राशि के दूसरे भाव यानि धन व वाणी भाव में गोचर करेगा साथ ही आपके खर्चे बढ़ा देगा। इस दौरान परिवार में किसी बात को लेकर मतभेद के अलावा आपके गले में भी संक्रमण हो सकता है। यात्रा के योग के अलावा केतु की इस चाल का आपकी नौकरी और व्यापार पर कोई ज्यादा असर नहीं पढ़ेगा।

7. तुला (Libra) राशि:
इस समय राहु आपकी राशि के सातवें भाव यानि विवाह भाव में प्रवेश करेगा। जिसके चलते आपको कहीं से अचानक से धन की प्राप्ति हो सकती है। नौकरी में परिवर्तन के अलावा इस दौरान आपके द्वारा व्यापार में नई रणनीति बनने की संभावना है। यात्रा के योग के बीच दांपत्य जीवन में भी इस समय सतर्क रहने की जरूरत है।

वहीं दूसरी ओर केतु इस समय आपकी राशि के पहले भाव में गोचर करेगा, जिसके फलस्वरूप यह आपको यह चिंतनशील बना देगा। ऐसे में आपके मन में कई तरह की योजनाएं बनेगी। जिसके साथ ही इस दौरान आप नौकरी और व्यापार में सफलता अर्जित कर सकते हैं।

8. वृश्चिक (Scorpio) राशि:
इस समय राहु आपकी राशि के छठे भाव यानि शत्रु व रोग के में प्रवेश करेगा। इस दौरान नौकरीपेशा लोगों को पदोन्नति मिलने की संभावना है साथ ही व्यापारियों को भी लाभ प्राप्त होगा। यह गोचर कॅरियर की दृष्टि से शुभ तो रहेगा, लेकिन इस समय आपको सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा।

वहीं दूसरी ओर केतु इस दौरान आपकी राशि के 12वें भाव यानि व्यय भाव में गोचर करेगा, जिसके चलते यह आपकी स्थिति को बेहतर बना देगा। साथ ही धार्मिक यात्रा के योग का भी निर्माण करेगा।

9. धनु (Sagittarius) राशि:
इस समय आपकी राशि में राहु पंचम भाव यानि बुद्धि व पुत्र भाव में प्रवेश करेगा। इस समय राहु आय और व्यापार में तो शुभ फल प्रदान करेगा। परंतु यह गोचर आपके प्रेम संबंधों, परिवार, बच्चों और शेयर बाजार आदि कार्यों के लिए ठीक नहीं कहा जा सकता।

जबकि दूसरी ओर केतु इस समय आपकी राशि के ग्यारहवें भाव यानि आय भाव में गोचर करेगा। ऐसे में यदि आप व्यापारी हैं तो यह समय आपकी आमदनी में उथल-पुथल मचा देगा। उचित होगा कि आप इस समय शेयर बाज़ार, स्टॉक मार्केट इत्यादि में जोखिम वाले कार्यों से दूर रहें। जबकि नौकरीपेशा लोगों के लिए इस दौरान हालात सामान्य रहेंगे। रिश्तों में वाद विवाद की संभावना बनेगी।

10. मकर (Capricorn) राशि:
इस समय राहु आपकी राशि के चतुर्थ भाव यानि माता व सुख के भाव में गोचर करेगा। ऐसे में यह समयावधि कॅरियर, नौकरी, जमीन-जायदाद और माता की सेहत के लिए अच्छी नहीं कही जा सकती।

जबकि दूसरी ओर केतु इस समय आपकी राशि के दसवें भाव यानि कर्म भाव में गोचर करेगा। जिसके चलते यह आपमें कार्य के प्रति जुनून पैदा करेगा। इसके फलस्वरूप नौकरी या व्यापार में लाभ मिलेगा। लेकिन ध्यान रखें कि इस दौरान आपको अपने सहकर्मियों के साथ व्यवहार उचित रखना होगा।

11. कुंभ (Aquarius) राशि:
इस समय राहु आपके तीसरे भाव यानि पराक्रम में करेगा। जिसके चलते इस समयावधि में आपके आत्मविश्वास, सतर्कता और इच्छाशक्ति में वृद्धि होगी। साथ ही व्यापार में विस्तार की योजना बनेगी। इस दौरान नौकरी में आपके तबादले या बदलाव की संभावना है। उचित होगा कि भाई-बहनों और दोस्तों से संबंध बनाकर रखें। यात्रा के योग क बीच सेहत पर विशेष ध्यान दें।

वहीं दूसरी ओर केतु इस समय आपकी राशि के नौवें भाव यानि भाग्य में गोचर करेगा। ऐसे में आपको ज्यादा मेहनत करने के साथ ही घर के बड़े बुजुर्गों की सेहत का ध्यान रखना होगा। यात्रा के भी योग के बीच इस दौरान आप अपनी पैतृक संपत्ति से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

12. मीन (Pisces) राशि:
इस समय राहु आपके दूसरे भाव यानि धन व वाणी भाव में गोचर करेगा। जिसके फलस्वरूप आपको अचानक से कुछ ख़र्चों का सामना करना पड़ेगा। इस दौरान आपको अपनी वाणी पर नियंत्रण रखते हुए कटुता को दूर रखने का प्रयास करना चाहिए। अन्यथा आपकी इस वाणी के कारण ही परिवार में किसी से संबंध खराब हो सकते हैं। इस अलावा ये गोचर गले और दांतों में समस्या को भी पैदा कर सकता है।

वहीं दूसरी ओर केतु आपकी राशि के आठवें भाव यानि आयु भाव में गोचर करेगा। जिसके चलते आपके परिवार का माहौल बिगाड़ सकता है। पैर में चोट के अलावा इस समय आपको त्वचा संक्रमण का भी सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान आपको धन कमाने के नए स्त्रोत का पता लग सकता है। ध्यान रखें कि इस समय निवेश को लेकर किसी भी प्रकार के जोखिम से बचें।

यह भी पढ़ें

1. शनि सहित राहु व केतु के बुरे प्रभावों से पूरे साल 2022 में आपकी व आपके परिवार की रक्षा करेगा ये उपाय

2. कालसर्प योग में साल 2022 का उदय, जानें इसके आप पर असर

newsletter
Home / Astrology and Spirituality

अगली खबर

right-arrow





Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top