धर्म-ज्योतिष

बेहद चतुर होते हैं मेष राशि के लोग, आप भी जानें अपनी राशि के अनुसार कैसे हैं आप!

बेहद चतुर होते हैं मेष राशि के लोग, आप भी जानें अपनी राशि के अनुसार कैसे हैं आप!



 

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक राशियां आपके व्यक्तित्व का राज भी खोल देती हैं। वह आपकी पसंद-नापसंद, आपका स्वभाव, आदतों, आपके शरीर की बनावट से लेकर हर चीज आपको बता देती है। इस लेख में पत्रिका.कॉम बता रहा है मेष राशि से लेकर कन्या राशि तक का व्यक्तित्व। इसे पढ़कर आप भी जानें क्या वाकई ऐसे हैं आप…

mesh_rashi_puja.jpg

मेष
मेष राशि के लोग आमतौर पर स्वभाव से बेहद चतुर होते हैं। बहुत जोशीले और जिद्दी स्वभाव होता है। इन्हें अपमान जरा भी बर्दाश्त नहीं होता। जिस बात में इनका नुकसान हो रहा हो, उसे ये किसी किमत पर स्वीकार नहीं करते। अक्सर इन्हें यह चिंता सताती है कि इनके राज कहीं सामने न आ जाएं। इनकी एक खासियत यह होती है कि एक बार ये किसी के हो जाते हैं, तो उसे अपना सब कुछ दे बैठते हैं। अपने इस व्यवहार के कारण उन्हें अक्सर नुकसान भी उठाना पड़ता है। इस राशि के लोग नृत्य, अभिनय आदि क्षेत्रों में सफल होते हैं। कपड़े, फर्नीचर और पुस्तकालय आदि कार्यों में भी भाग्य इनका साथ देता है। मेष राशि के लोग साफ-सफाई के प्रति काफी चौकस रहते हैं। वे हर काम को साफ-सुथरे ढंग से करना पसंद करते हैं। मेष राशि के लोग व्यवहार कुशल होने के साथ ही अपनी बातों पर अड़े रहने के लिए जाने जाते हैं। इसीलिए इनकी लड़ाइयां भी खूब होती हैं। अक्सर विवादों के केंद्र में रहते हैं। इस राशि के लोगों की शारीरिक कद-काठी की बात की जाए तो यह मध्यम कद के होते हैं। इनके हाथों की बनावट कोन के आकार जैसी होती है और इनकी उंगलियों की अपेक्षा हथेली बड़ी होती है। इनका मस्तिष्क विशाल और चेहरे की आकृति विद्वत्तासूचक होती है। ऐसे लोगों के सिर के किसी भी भाग पर चोट का निशान होता है और छाती या चेहरे पर तिल या मस्से का निशान भी होता है। इनकी आंखें कमजोर होती हैं। इस राशि का प्रभाव मस्तिष्क पर रहने की वजह से इन लोगों को मानसिक शांति कम ही मिलती है।

 

ये भी पढ़ें: Government Job Alert : एमपी में निकली हैं बंपर सरकारी भर्ती, यहां जानें आपके हाथों में सरकारी नौकरी की रेखा

ये भी पढ़ें: Astro Tips To Get Government Job: हर दिन कर लें ये एक उपाय, सूर्यदेव के आशीर्वाद से सरकारी नौकरी के बनेंगे 100% योग

vrishabh_rashi_puja.jpg

वृषभ
वृष या वृषभ राशि के लोग शांति पसंद होते हैं। ये अपने काम को काफी लगन से करने वाले होते हैं। किसी काम में जुट जाते हैं तो, उसे तब तक नहीं छोड़ते, जब तक कि उसका समाधान नहीं मिल जाता है या वह पूरा नहीं हो जाता। वृष राशि के लोगों को ज्योतिष शास्त्र से जुड़ी पुस्तकें पढऩा, खेल-कूद, नृत्य, गायन, सत्संगति, अच्छी चीजों को संगृहीत करना, कथा-कीर्तन आदि जैसी चीजों में से किसी एक चीज में काफी दिलचस्पी रहती है। इस राशि के लोग संगीत के गुणों से संपन्न होते हैं। अपनी वाणी से एक समय में सैकड़ों लोगों को प्रभावित और आकर्षित कर लेने की क्षमता रखते हैं। इस राशि के पुरुषों को खेल और महिलाओं को वस्त्रों से काफी लगाव होता है। नई-नई जानकारियां जुटाना, घटनाओं तथा स्थानों को जानने और वर्णन करने में ये लोग ज्यादा रुचि लेते हैं। वृष राशि वालों को डराना या धमकाना अपने लिए संकट को आमंत्रित करने जैसा है। कभी-कभी ये लोग क्रोध में आकर सीमाओं को भी पार कर देते हैं। ये स्वयं झगड़ा नहीं करते हैं, परन्तु कोई इनसे जानबूझ कर झगड़ा करे तो वह उसे सबक सिखाए बिना नहीं रहते। मेष राशि के लोगों की तरह ये लोग भी स्वभाव से जिद्दी होते हैं। इनकी एक बड़ी कमी यह है कि ये बहुत आलसी प्रवृत्ति के होते हैं और अपना सामान व्यवस्थित नहीं रखते हैं। वृष राशि के लोगों का चेहरा खुशनुमा और भरा हुआ होता है। इनकी त्वचा बहुत कोमल होती हैं। इस राशि के लोगों के होंठ खूबसूरत होते हैं। इनके चेहरे का आकार अंडाकार होता हैं। इनकी नाक गोल और ऊपर की तरफ उठी हुई होती है। त्वचा का रंग साफ होता है। बाल घने और चमकीले होते हैं। इस राशि के लोगों का शरीर अनुपात में होता है। इनके कपड़ों का चयन बहुत अच्छा रहता है और इसके प्रति ये बड़े अवेयर भी रहते हैं।

 

mithun_rashi_puja.jpg

मिथुन
मिथुन राशि के लोग अस्थिर स्वभाव के होते हैं लेकिन इनका व्यक्तित्व और चरित्र दोनों ही आकर्षण का केंद्र होते हैं। उन्हें हर दिन नए परिवर्तन, भ्रमण और विविधता पसंद होती है। ये बेहद हाजिर जवाब और फुर्तीले होते हैं। इन लोगों की जिज्ञासु प्रवृत्ति और चतुराई इनको सामाजिक समारोहों और किसी भी पार्टी में आकर्षण का केंद्र बना देती हैं। ये लोग न केवल अच्छे वक्ता होते हैं बल्कि अच्छे श्रोता भी होते हैं। मिथुन राशि वालों को घूमना-फिरना, गायन, सिलाई करना, सिनेमा देखना, किताबें पढऩा आदि जैसी कलात्मक चीजों का बहुत शौक रहता है। ये एक समय में बहुत कुछ जानने की इच्छा रखते हैं। इस राशि के लोग लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करना चाहते हैं, लेकिन जैसे ही लोग इनसे आकर्षित होते हैं, इनकी रुचि उस व्यक्ति या वस्तु से खत्म हो जाती है। ये चंचल प्रकृति के और घूमने-फिरने वाले स्वभाव के होते हैं। इनकी सबसे बड़ी कमी यह है कि ये साहस-प्रिय नहीं होते हैं। वहीं दिखावे की चीजों में अधिक रुचि लेते हैं। मिथुन राशि के व्यक्ति राजनीति में चतुर होते हैं। ये दयावान, दृढ़ संकल्पी और धार्मिक रहते हैं। इस राशि के लोग सबके साथ एक समान व्यवहार रखते हैं। ये बहुद ईमानदार, सभ्य, चरित्रवान और सहनशील भी होते हैं। ये हर काम को सोच-विचार के बाद ही करते हैं। मिथुन राशि के लोगों की खासियत होती है कि अगर एक बार किसी को वचन दे दें या किसी चीज का संकल्प ले लें तो वे उसे निभाते हैं। ये लोग अपने उत्तरदायित्व को अच्छी तरह से निभाना ही अपना फर्ज मानते हैं। इस राशि के लोगों का कद औसत से ऊंचा होता है, शरीर छरहरा और रंग हल्का दबा हुआ होता है। इस राशि के जातक की आंखें तेज होती हैं। बाल हल्के, नाक पतली, ठोढ़ी नुकीली और बाहें लंबी होती हैं। इस राशि के लोग बोलने में मुखर होते हैं। इन लोगों कि उपस्थिति सुंदरता एवं तेज प्रदान करती हैं। ये लोग नियंत्रित और शांतचित्त शैली में रहना पसंद करते हैं। मिथुन राशि वाले व्यक्तियों के हाथ की बनावट त्रिकोणाकृति होती है।

ये भी पढ़ें: पैसा और प्यार में से किसी एक को चुनना हो, तो इन राशियों के लोगों पर कर सकते हैं यकीन

ये भी पढ़ें: life style astro tips : सोने के गहने पहन रहे हैं, तो हो जाएं सावधान, आर्थिक तंगी कर सकती है परेशान

kark_rashi_puja.jpg

कर्क
इस राशि के लोग बेहद भावुक होते हैं और दूसरों के जीवन से बहुत मतलब रखते हैं। इस राशि के लोगों को अपने जन्म स्थान से काफी लगाव होता है। चंद्रमा के कारण इन्हें बार-बार स्थान परिवर्तन करना पड़ता है। इनके स्वभाव में दृढ़ता होती है, दुर्बलता भी रहती है। इनकी मन:स्थिति परिवर्तनशील होती है। इस राशि के लोग अपनी शर्तों पर चलते हुए सज्जनता और विनम्रता का प्रदर्शन करते हैं। कर्क राशि वाले व्यक्ति अपने अनुसार निर्माण कराने के लिए पुराने विचारों और मान्यताओं को त्याग कर सकते हैं। इनके स्वभाव में विरोधाभास दिखता है। यदि इनका कोई साथी या फिर मित्र इनके अनुसार नहीं चलता तो, ये उसकी उपेक्षा भी कर सकते हैं। इस राशि के लोगों को मान-सम्मान और आदर की चाहत रहती है। इस राशि के लोगों को मूर्ख बनाना आसान नहीं होता है। ये लोग व्यक्ति, वस्तु और परिस्थितियों से बंध जाते हैं। ये चाहे जितनी ही लंबी यात्राएं कर लें, इन्हें अपने घर लौटने की ही चिंता सताती है। इन्हें पुराने चित्रों, ग्रंथों आदि में विशेष रुचि होती है। ये लोग सामान्य कद के होते हैं। इनके हाथों की बनावट चपटी होती है। उंगुलियां मोटी और हथेली कोमल होती है और साथ ही हथेलियों का उभार बहुत उन्नत होता है। इस राशि के लोगों के गले, बाजू या इंद्रियों पर तिल का निशान होता है। इनके सिर पर भी तिल या चोट का निशान होता है। ये दौडऩे-भागने में तेज होते हैं। इसलिए इनकी शारीरिक बनावट ऐसी होती है, जो इन्हें तेज चलने और दौडऩे में कुशलता देती है।

 

singh_rashi_puja.jpg

सिंह
इस राशि के लोगों का व्यक्तित्व बेहद आकर्षक होता है। वहीं ये खुद भी अपने व्यक्तित्व को अधिक आकर्षक बनाना चाहते हैं। सिंह राशि के लोगों को जीवन से प्रेम होता है। इनकी आवश्यकताएं सामान्य से कहीं अधिक होती है। ये खर्चीले भी ज्यादा होते हैं। इनके हाथों में पैसा बिल्कुल नहीं टिकता है। हालांकि ये पैसे के लिए लगातार संघर्ष करते रहते हैं और पैसे पा भी लेते हैं। लेकिन अपने खर्चीले स्वभाव के कारण उसे बचा नहीं पाते। यही इनका सबसे बड़ा अवगुण है। कई बार इनका पैसों के लेनदेन को लेकर मित्रों और सगे-संबंधियों से विवाद भी हो जाता है। इनका स्वभाव महत्वाकांक्षी होता है। हालांकि ये बड़े साफ दिल और लगनशील व्यक्तित्व के धनी होते हैं। साथ ही ये अपने जीवन को पूरी शान के साथ जीने में विश्वास रखते हैं। लक्ष्य-प्राप्ति के लिए आत्म बलिदान, स्वतंत्रता और मौलिकता बनाए रखने की इच्छा इस राशि का प्रमुख गुण माना जाता है। इनमें लोगों का सत्कार करने की एक अलग क्षमता होती है। इस राशि के लोगों का कद लंबा होता है। इनके पैरों की लंबाई भी सामान्य से अधिक होती है। इनके हाथ छोटे होते हैं और उंगलियों की अपेक्षा हथेली थोड़ी बड़ी होती है। इस राशि के जातक का मस्तक उन्नत और माथा विशाल होता है। इनके गले, पेट या पैर पर तिल आदि का निशान रहते हैं। ये अक्सर गिरते-पड़ते हैं। बार-बार गिरने से इनकी हड्डियां कमजोर रहती हैं। सिंह राशि के जातकों के नैन नक्श बहुत प्रभावशाली होते हैं। इनकी आंखों में एक अलग तरह की चमक होती है। इनके बाल लंबे और घने होते हैं और नाक लंबी होती है। मजबूत शारीरिक बनावट इनके शरीर की विशेषता होती है।

 

ये भी पढ़ें: 12 साल बाद गुरु और सूर्य की युति, इन तीन राशियों की बदल रही है किस्मत

ये भी पढ़ें: shivpataleshvar temple in UP: इस मंदिर में अंतिम आस लगाए पहुंचते हैं गंभीर रोगी, भक्तों को सेहत पर दिखता है चमत्कारिक असर

 

kanya_rashi_puja.jpg

कन्या
कन्या राशि के लोग स्वभाव से कुछ-कुछ सरल और कुछ-कुछ कठोर होता है। इन्हें प्रकृति से बेहद लगाव होता है। इसीलिए इन्हें बागवानी करना और खूबसूरत पौधों की देखभाल करना बेहद पसंद होता है। ये लोग अपने उतावलेपन और जल्दबाजी के कारण अकसर मुसीबत में फंस जाते हैं। इनके स्वभाव की सबसे बड़ी कमी यह होती है कि ये बेहद स्वार्थी होते हैं और दूसरों की सलाह को महत्व नहीं देते। इसीलिए कई बार इन्हें संकट का सामना करना पड़ता है। अक्सर ये दूसरों का मजाक उड़ाने में आनंद लेते हैं, जिसकी वजह से आए दिन इनके संबंध खराब भी हो जाते हैं। यदि इस राशि के लोग बिजनेस करना चाहते हैं, तो पार्टनरशिप में ह इन्हें शुरुआत करनी चाहिए। ऐसे में संभावना प्रबल होती है कि ये अपने परिश्रमी स्वभाव, दृढ़ इच्छा-शक्ति और संकल्प की वजह से बिजनेस में सफल हो जाएं। दूसरों की आलोचना करके ये लोग अपना व्यवहार बिगाड़ लेते हैं। फिर उसे सुधारने में भी काफी समय लेते हैं। इनका स्वभाव होता है कि ये लोग बातों को बड़ा ही बढ़ा-चढ़ाकर पेश करते हैं। यह इनका सबसे बड़ा दुर्गण होता है। इसकी वजह से कभी-कभी ये लोग हास्यास्पद स्थिति में आ जाते हैं। कन्या राशि के लोगों का कद औसत ऊंचाई का होता है। इस राशि के लोगों की त्वचा का रंग पीला, माथा ऊंचा, आंखें सुंदर और मुंह संवेदनशील होता है। इस राशि वालों के हाथ सुडौल और चौड़े होते हैं। इनका अंगूठा थोड़ा छोटा होता है और हथेली पर सामान्य व्यक्ति की अपेक्षा ज्यादा रेखाएं होती हैं। इनके सामने वाले दांतों के बीच में थोड़ा अंतर होता हैं और इनकी नाक के अंत में विभाजन होता हैं। इस राशि के लोग तेज चलने वाले होते हैं, लेकिन अपनी चाल के प्रति हमेशा सतर्क रहने वाले होते हैं।



Source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top